स्ट्रीट फूड बेचने वालों को दी जाएगी ट्रेनिंग

 हैल्दी-हाईजीनिक आइट्म्स बनाने के साथ साफ-सफाई का पढ़ाया जाएगा पाठ, नगर निगम शुरू करेगा मुहिम

शिमला –नगर निगम शिमला में गुरुवार को टाउन वेंडिंग कमेटी की बैठक का आयोजन किया गया। इस बैठक में शहर के तहबाजारियों के लिए विशेष निर्णय लिए गए। यह बैठक  निगम आयुक्त पकंज राय व ज्वाइंट कमीशन अजीत भारद्वाज की अध्यक्षता में संपन्न हुई। इस दौरान तहबाजारियों के लिए कई अहम निर्णयों पर विस्तार से चर्चा की गई। खास तौर पर शहर के लोअर बाजार सहित ओल्ड बस स्टैंड में फूड़ आइटम बेचने वालों को निगम विशेष प्रशिक्षण देगा। इस प्रशिक्षण के माध्यम से फूड़ आइटम बेचने वालों को साफ-सफाई बनाए रखने के लिए ट्रेनिंग दी जाएगी। अधिकतर देखा जाता है कि खुले में खाद्य वस्तुएं बनाने वाले दुकानदार साफ-सफाई का ध्यान नहीं रखते, जिससे आम लोगों के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है। खास तौर पर स्कूली बच्चों के स्वास्थ्य पर जल्द प्रभाव पड़ता है। इस दुविधा से बचने के लिए निगम अब एक मुहिम शुरू करने वाला है। निगम फूड़ आइटमस बेचने वालों को साफ-सफाई कैसे रखें, लोगों को कैसे साफ खाना खिलाएं इसके लिए जागरूक किया जाएगा। इसके  साथ ही बैठक में अवैध रूप से कारोबार कर रहे तहबाजारियों पर लगाम लगाने के लिए विशेष कार्रवाई की जा रही है। इसके लिए बैठक में यह निर्णय लिया जाएगा कि 1065 तहबाजारियों को ही व्यापार करने दिया जाएगा। इन तहबाजारियों की पुलिस वैरीफिकेशन करने के बाद निगम उन्हें आईडेंटी कार्ड अलॉट करेगा। इसके बाद वे शहर में चिन्हित स्थान पर व्यापार कर सकते हैं। साथ ही तहबाजारियों को तीन बाई छह में ही अपनी दुकान चलानी होगी, इससे बाहर गई तो निगम इस पर उचित कार्रवाई करेगा। वहीं, शहर में खुले में खाने का सामान बेच रहे दुकानदारों की दुकानों पर हैल्थ सेफ्टी डिपार्टमेंट ने छापा मारा, जिसमें शहर के दुकानदारों की दुकानों में साफ-सफाई देखी गई। दरअसल इन खुली दुकानों से खाना खाने वाले लोगों व बच्चों के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ रहा है। ऐसे में हैल्थ सेफ्टी डिपार्टमेंट के सहायक आयुक्त डा. विजया ने शुक्रवार को शहर में दौरा किया। इस मौके पर उन्होंने दुकानदारों को साफ-सफाई बनाए रखने के लिए भी प्रेरित किया।

You might also like