हिमाचल में अब सुधरेगी स्कूल एजुकेशन, दूसरी कक्षा से शुरू होगा संस्कृति सब्जेक्ट।

हिमाचल स्कूल शिक्षा बोर्ड धर्मशाला की बोर्ड ऑफ डायरेक्टर की बैठक शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज की अध्यक्षता में हुई। इसमें शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने और परीक्षा प्रणाली को लेकर कई अहम विषयों पर चर्चा हुई। इस दौरान दूसरी कक्षा से संस्कृति विषय को आगामी शैक्षणिक सत्र से शुरू करने के प्रोपोजल को हरी झंडी दिखाई गई। इसके अलावा वैदिक गणित, शतरंज, योग और संगीत विषय भी जल्द ही पाठ्यक्रम में शामिल किए जाएंगे। वहीं, आगामी शैक्षणिक सत्र से स्कूलों में पांचवीं से दसवीं तक के छात्रों को नैतिक शिक्षा व स्वतंत्रता संग्राम की कहानियां विषय के स्थान पर भारतीय प्रतिरोध एवं स्वतंत्रता संग्राम का इतिहास विषय शामिल किए जाने के प्रोपोजल को हरी झंडी दिखाई गई। वहीं स्कूलों में मोर्निंग एसेंबली में सुधार करते हुए उसमें पर्यावरण, स्वच्छता और नशा मुक्ति के विषय जोड़कर अधिक रोचक और गुणवत्तापूर्ण बनाया जाएगा। वहीं निजी स्कूलों में डम्मी एडमिशन पर कड़ी नजऱ रखी जाएगी और ऐसा पाए जाने पर एफिलेशन रद्द कर दी जाएगी। इसके अलावा परीक्षा प्रणाली में भी बड़े स्तर पर सुधार किए गए हैं। इसके तहत अब छात्रों को पूनर्मूल्यांकन करवाने के बाद निर्धारित तिथि पर दोनों में से कोई भी परिणाम प्राप्त करने की बड़ी छूट प्रदान की गई है। इसके अलावा बोर्ड ने अच्छी पुस्तक तैयार करने पर भी तीन करोड़ रुपए सलाना बचाने पर भी कार्य किया है। वहीं बोर्ड द्वारा हिंदी के साथ-साथ हिमाचल की दूसरी राज्यभाषा संस्कृत भी नाम पट्टिका तैयार की जाएगी। साथ ही पहली बार न्यूज लेटर भी निकाला जाएगा, जिसे हिंदी, संस्कृत और अंग्रेजी भाषा में जारी किया जाएगा।
धर्मशाला से नरेन कुमार

You might also like