हिमाचल में मेहमानवाजी से यूएई खुश

पार्टनर कंट्री से मुख्यमंत्री के नाम आया पत्र, निवेश में मदद का दिलाया भरोसा

शिमला – इन्वेस्टर्स मीट के महाआयोजन से हिमाचल सरकार की पार्टनर कंट्री बेहद खुश है। समारोह के दौरान इस पार्टनर कंट्री के प्रतिनिधियों को सम्मान दिए जाने पर ये गदगद हैं और यूएई ने भरोसा दिलाया है कि वह हिमाचल प्रदेश में निवेश को लेकर पूरी मदद करेंगे। इन्वेस्टर्स मीट खत्म होने के बाद रुखसत हुए यूएई के प्रतिनिधियों की ओर से वहां के एंबेसेडर ने हिमाचल सरकार को पत्र लिखा है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के नाम पर भेजे गए उनके पत्र में कहा गया है कि वे हिमाचल की सरकार व वहां के लोगों द्वारा दिए गए सम्मान से खुश हैं। एंबेसेडर डा.अहमद अल बाना ने अपने पत्र में लिखा है कि हिमाचल प्रदेश में निवेश की बेहद संभावनाएं हैं, जो वहां आकर उन्होंने जानी हैं। यहां एग्रो एंड फूड प्रोसेसिंग, फार्मास्यूटिकल एंड बायोटेक्नोलॉजी, रिन्यूअल एनर्जी, हॉस्पिटेलिटी के साथ हेल्थकेयर व वेलनेस के क्षेत्र में बड़ी संभावनाएं उन्हें दिखी हैं। इसमें यूएई हिमाचल सरकार की मदद को तैयार है और यहां के निवेशक हिमाचल में इन क्षेत्रों में निवेश की पूरी संभावनाएं देखते हैं। उन्होंने जयराम ठाकुर से कहा है कि उनके नेतृत्व में हिमाचल सरकार बड़ा निवेश लाएगी यह तय है, जिसे लेकर इन्वेस्टर्स मीट में चर्चा हो चुकी है। वहां जिस तरह हिमाचल को प्रेजेंट किया गया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद विश्वास दिलाया है उससे निवेशकों का भरोसा बढ़ा है। ऐसे में हिमाचल प्रदेश आने वाले समय में उद्योग क्षेत्र में कई पायदान ऊपर चढ़ेगा, यह तय है।

अब निवेशकों की बारी

इन्वेस्टर्स मीट के दौरान यूएई के प्रतिनिधियों को सरकार ने पूरा मौका दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बातचीत की और उनका यहां आने पर स्वागत भी किया। यूएई के प्रतिनिधियों ने यहां हर क्षेत्र के सेक्टोरल सेशन में भी हिस्सा लिया और अपने विचार रखे। इसके साथ ही वहां यूएई के प्रतिनिधियों ने जो सवाल उठाए, उन पर अधिकारियों ने उन्हें संतुष्टि भरे जवाब दिए। कुल मिलाकर विदेशी निवेश को लेकर हिमाचल सरकार ने खासे प्रयास किए हैं, अब इन निवेशकों की बारी है।

You might also like