आज से पोलार्ड की पलटन से पंगा

हैदराबाद में भारत-वेस्टइंडीज के बीच पहला टी-20, राहुल-पंत पर नजर

 हैदराबाद –भारत दौरे पर आई  वेस्टइंडीज टीम शुक्रवार को हैदराबाद में टी-20 मुकाबले से आगाज करेगी। इस दौरान भारतीय टीम आस्ट्रेलिया में अगले साल होने वाले टी-20 विश्वकप के लिए खिलाडि़यों को आजमाना जारी रहेगा। इस शृंखला में लोकेश राहुल और ऋषभ पंत जैसे खिलाड़ी टीम में अपना स्थान पक्का करने का लक्ष्य बनाए होंगे। टी-20 विश्वकप की तैयारियों में जुटी भारतीय टीम में कई खिलाडि़यों का स्थान अभी पक्का नहीं है और वे वेस्टइंडीज के खिलाफ अपने प्रदर्शन से टीम प्रबंधन और चयनकर्ताओं को प्रभावित करने का प्रयास करेंगे। इनमें से एक नाम राहुल का है। चोटिल सलामी बल्लेबाज शिखर धवन की अनुपस्थिति में यह शृंखला उन्हें रोहित शर्मा के जोड़ीदार के तौर पर अपना स्थान सुनिश्चित कराने का बहुत अच्छा मौका देगी। उनका टी-20 में अच्छा रिकार्ड है। राहुल ने 31 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 42.74 के औसत से 974 रन जुटाए हैं, जिसमें उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर नाबाद 110 रन रहा है। आईपीएल में भी उनका प्रदर्शन अच्छा रहा है। राहुल के अलावा पंत भी अपने मजबूत प्रदर्शन से आलोचकों को जवाब देना चाहेंगे। बल्ले से और विकेटकीपिंग में अपनी अनिरंतर फार्म के कारण वह पिछले कुछ समय से आलोचनाओं में घिरे रहे हैं। उन्हें महेंद्र सिंह धोनी के उत्तराधिकारी के तौर पर देखा जा रहा था, लेकिन इस साल के शुरू में आईसीसी वनडे विश्वकप के समाप्त होने के बाद उनकी फार्म में गिरावट आई और अपना विकेट भेंट में देने के लिए कई बार उनकी काफी आलोचना की गई। यहां तक कि उनकी विकेटकीपिंग की भी काफी आलोचना हुई और इसी कारण बाएं हाथ के इस खिलाड़ी को खेल के लंबे प्रारूप से बाहर कर दिया गया और रिद्धिमान साहा ने अंतिम एकादश मे दोबारा अपना स्थान हासिल कर लिया। चयनकर्ताओं ने प्रतिभाशाली संजू सैमसन को टीम में शामिल किया और धोनी के ब्रेक से वापसी की बातें होने लगी। इससे अब पंत के लिए यह मौका है कि वह प्रदर्शन करें और अपना स्थान पक्का करें या फिर गंवा दे।

निकोलस पूरन नहीं खेलेंगे

कीरोन पोलार्ड कप्तानी की जिम्मेदारी बखूबी निभाना चाहेंगे, जबकि निकोलस पूरन गेंद से छेड़छाड़ के कारण लगे चार मैचों के प्रतिबंध की वजह से पहला टी-20 मैच नहीं खेल पाएंगे। इससे वेस्टइंडीज के बल्लेबाजी लाइनअप की जिम्मेदारी शाई होप और शिमरोन हेटमेयर पर होगी, वहीं भारतीय रोस्टन चेज से भी सतर्क होंगे, जो बल्ले और गेंद दोनों से उपयोगी योगदान कर सकते हैं। टी-20 विश्वकप को ध्यान में रखते हुए वेस्टइंडीज की टीम भी विभिन्न संयोजन आजमाना चाहेगी और इसी के तहत उन्होंने टीम में कुछ नए चेहरों को शामिल किया है।

सैमसन पर सस्पेंस

संजू सैमसन के लिए भी यह शृंखला अहम होगी। उन्हें बांग्लादेश के खिलाफ टी-20 टीम में शामिल किया गया था, लेकिन केरल के इस विकेटकीपर बल्लेबाज को शांखला में एक भी मौका नहीं मिला और धवन के चोटिल होने के बाद उन्हें टीम में चुना गया। यह तो निश्चित ही है कि पंत विकेटकीपिंग के लिए पहली पसंद होंगे, लेकिन अगर वह फिर से विफल होते हैं तो यह देखना होगा कि टीम प्रबंधन सैमसन को मौका देता है या नहीं, जिसके वह निश्चित रूप से हकदार हैं।

विश्वकप को एक गेंदबाज चुनना बाकी

हैदराबाद। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने गुरुवार को कहा कि अगले साल आस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्व कप के लिए टीम के तेज गेंदबाजी आक्रमण में सिर्फ एक स्थान भरा जाना बाकी है। कोहली ने इस तरह संकेत दिया कि तेज गेंदबाजों जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी का टीम में जगह बनाना लगभग तय है। शुक्रवार को वेस्ट इंडीज के खिलाफ होने वाले पहले टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच से पूर्व कोहली ने संवाददाताओं से कहा कि बेशक मुकाबला एक स्थान के लिए है और मुझे लगता है कि तीन खिलाडि़यों ने अपनी जगह लगभग पक्की कर ली है। यह स्वस्थ प्रतिस्पर्धा है और यह देखना रोमांचक होगा कि निष्कर्ष क्या निकलता है।  वहीं उन्होंने कहा कि दीपक (चाहर) ने भी काफी अच्छी गेंदबाजी की है।

 

You might also like