आपदा के मारों का रखें ख्याल

चंबा में समीक्षा बैठक के दौरान उपायुक्त विवेक भाटिया ने दिए निर्देश

चंबा – ग्रामीण विकास विभाग के विभिन्न कार्यों की प्रभावी मानिटरिंग और रिपोर्टिंग को और कारगर बनाने के मकसद से चंबा जिला में एक नई पहल हुई है। उपायुक्त विवेक भाटिया द्वारा गुरुवार को ग्रामीण विकास विभाग की समीक्षा नामक ऐप लांच की। यह लांचिंग खंड विकास अधिकारियों की मासिक समीक्षा बैठक के दौरान हुई। उपायुक्त ने कहा कि यह ऐप ग्रामीण विकास विभाग द्वारा कार्यान्वित किए जा रहे विभिन्न कार्यों की गुणवत्ता जानने का एक कारगर माध्यम बनेगा। संबंधित खंड विकास के अधिकारी हर महीने लक्ष्य के मुताबिक विकास खंड में जाकर स्कीम का निरीक्षण करने के बाद बाकायदा निरीक्षण के दौरान स्कीम से संबंधित फोटोग्राफ्स इस ऐप के जरिए अपलोड करेंगे। इनमें एक ऐसी फोटो भी रहेगी, जिसमें खंड विकास अधिकारी मौके पर मौजूद दिखेंगे। इसके अलावा निरीक्षण रिपोर्ट भी उसके साथ रहेगी, जिसमें स्कीम का पूरा विवरण रहेगा। निरीक्षण रिपोर्ट अपलोड होने के बाद उपायुक्त उसकी अपने स्तर पर समीक्षा करेंगे। उपायुक्त ने कहा कि आने वाले समय में इस ऐप में कुछ और नए फीचर भी जोड़े जाएंगे। बैठक के दौरान उपायुक्त ने खंड विकास अधिकारियों को ये निर्देश भी दिए कि आवास योजना के तहत उन परिवारों को भी पूरा अधिमान दिया जाए जो किसी भी प्राकृतिक आपदा के चलते बेघर हुए हैं। खंड विकास अधिकारी यह सुनिश्चित बनाएं कि ऐसे लोगों को प्राथमिकता मिले। उपायुक्त ने कहा कि जिले के विभिन्न विकास खंडों में बनाए जाने वाले सिंचाई टैंकों में कृषि विभाग की इंजीनियरिंग टीम ग्रामीण विकास विभाग को अपना पूरा तकनीकी सहयोग देगी। उपायुक्त ने कहा कि जो पंचायतें इसमें अपना स्वय सहयोग देंगी उन्हें जिला प्रशासन से भी पूरा साथ मिलेगा। राष्टीय ग्रामीण आजीविका मिशन की समीक्षा के दौरान खंड विकास अधिकारियों द्वारा स्वयं सहायता समूहों को कुछ बैंकों द्वारा समय पर ऋण आबंटन न करने को लेकर रखी गई समस्या पर उपायुक्त ने स्पष्ट निर्देश दिए कि खंड विकास अधिकारी कार्यालय द्वारा जो मामले बैंक में जाते हैं उन्हें बिना वजह लटकाना गंभीर मामला है। उन्होंने अग्रणी जिला प्रबंधक को इस दिशा में आवश्यक कदम उठाने के लिए कहा। इसके बावजूद भी यदि यथास्थिति रहती है तो संबंधित बैंक के प्रबंधक को कारण बताओ नोटिस के साथ बैठक में तलब किया जाएगा। उपायुक्त ने मुख्यमंत्री आवास योजना और मनरेगा में श्रम दिवस अर्जित करने में जिले की परफार्मेंस पर प्रशंसा व्यक्त की। उपायुक्त ने मनरेगा कार्यों में महिलाओं की कम भागीदारी पर चिंता व्यक्त करते हुए खंड विकास अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे आगामी बैठक में इस दिशा में उठाए गए कदमों के बाद हासिल प्रगति से अवगत करवाएंगे। बैठक के दौरान पंचायती राज संस्थाओं के प्रतिनिधियों और कर्मचारियों की रिकवरी, लेखा परीक्षा निरीक्षण और प्लानिंग शाखा से जारी विभिन्न फंडों के उपयोगिता और कार्य पूर्णता प्रमाण पत्रों के लंबित मामलों पर भी विस्तार से चर्चा की गई। उपायुक्त ने कहा कि ठोस एवं तरल कचरा प्रबंधन को लेकर तीसा विकास खंड के भंजराडू के लिए एक बेहतर कार्य योजना तैयार की गई है। अन्य विकास खंडो में भी ठोस एवं तरल कचरा प्रबंधन को लेकर व्यावहारिक प्रयास अमल में लाए जाएं। बैठक के बाद उपायुक्त ने विभिन्न विकास खंडों की सफलता की कहानियों पर आधारित पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन भी देखी और आवश्यक निर्देश जारी किए। बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त मुकेश रेप्सवाल के अलावा परियोजना अधिकारी डीआरडीए योगेंद्र कुमार, जिला योजना अधिकारी गौतम शर्मा, जिला पंचायत अधिकारी, कृषि उपनिदेशक भोला सिंह व विभिन्न विकास खंडों के खंड विकास अधिकारी मौजूद रहे।

You might also like