एम्स का आयुष ब्लॉक बनकर तैयार

15 दिसंबर तक कंपलीट होगा काम, जनवरी में शुरू हो जाएगी ओपीडी

बिलासपुर-बिलासपुर के कोठीपुरा में निर्माणाधीन एम्स (अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान) का भव्य आयुष भवन बनकर लगभग तैयार है। 15 दिसंबर तक इसका निर्माण कार्य पूर्ण हो जाएगा। जनवरी, 2020 से आयुष ब्लॉक में ओपीडी शुरू कर दी जाएगी। 100 सीटों की स्वीकृति वाले मेडिकल कालेज में जुलाई, 2020 से एमबीबीएस की 50 सीटों का प्रथम बैच बिठाने की भी तैयारी है। हाल ही में केंद्र सरकार की ओर से एम्स में डेपुटेशन पर डिप्टी डायरेक्टर की नियुक्ति की है। अभी तक यह कार्यभार एडीएम बिलासपुर के पास था। उल्लेखनीय है कि लोकसभा चुनाव के वक्त केंद्रीय मंत्री रहते हुए जेपी नड्डा व मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने एम्स साइट का भूमि पूजन कर कार्य शुरू करवाया था। इस प्रोजेक्ट को एनबीसीसी द्वारा निष्पादित किया जा रहा है। जून, 2021 तक मेडिकल कालेज और नर्सिंग कालेज के साथ कार्यात्मक करने का लक्ष्य है। संस्थान में 750 बिस्तरों की क्षमता होगी, जिसमें से 300 बिस्तर सुपरस्पेशियलिटी के लिए होंगे। इसमें एमबीबीएस की 100 सीटें तथा नर्सिंग की 60 सीटें होंगी। कुछ समय पहले बीजेपी के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने मुख्यमंत्री के साथ एम्स के निर्माण कार्य का निरीक्षण किया था और भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय से आए अधिकारियों की मौजूदगी में निर्माता कंपनी एनपीसीसी प्रबंधन से क्वालिटी और प्रगति पर एक प्रेजेंटेशन ली थी, जिसके तहत क्वालिटी व प्रगति संतोषजनक पाई गई थी। ताजा स्थिति में ओपीडी ब्लॉक लगभग बनकर तैयार हो गया है। अगले साल जनवरी में ओपीडी शुरू कर दी जाएगी और जुलाई माह में मेडिकल कालेज में एमबीबीएस की कक्षाएं शुरू करने की योजना है। इसके तहत पचास सीटों का पहला बैच बिठाया जाएगा।

You might also like