गीता श्लोकोच्चारण में कविता फर्स्ट

संतोषगढ़ के विश्वकर्मा मंदिर में गीता जयंती पर चला प्रतियोगिता का दौर

संतोषगढ़ – संतोषगढ़ नगर में स्थित श्री विश्वकर्मा मंदिर में रविवार को ब्राह्मण कल्याण सभा (रजि.)संतोषगढ़ द्वारा गीता जयंती पर्व बड़ी धूमधाम के साथ मनाया गया। इस कार्यक्रम में प्रसिद्ध समाजसेवी और हिमोत्कर्ष संस्था के वरिष्ठ पदाधिकारी श्मशेर सिंह राणा ने बतौर मुख्यातिथि अपनी उपस्थिती दर्ज करवाई और निरंजन दत्त शास्त्री तथा आदर्श संस्कृत महाविद्यालय डोहगी के प्रवक्ता कृष्ण मोहन पांडे वशिष्ट आतिथि के रूप में पधारे। इलाके के अन्य विद्वानों में रवि वैद्य पूर्व प्रधानाचार्य बसदेहड़ा,  डा. महेंद्र गोपाल शर्मा आचार्य जखेड़ा, बृज मोहन शास्त्री, शिव कुमार कश्यप पूर्व प्रधान संस्कृत शिक्षक परिषद ऊना ने कार्यक्रम में अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई। गीता श्लोकोच्चारण कनिष्ठ वर्ग प्रतियोगिता में राजकीय मिडल स्कूल खानपुर की कविता चौधरी ने प्रथम स्थान, इसी स्कूल की अनुराधा ने द्वितीय स्थान, सरस्वती विद्या मंदिर रायपुर सहोड़ा की सानिया ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। श्लोकोच्चारण वरिष्ठ वर्ग प्रतियोगिता में एमआईडीएवी स्कूल मैहतपुर की अंजलि ने प्रथम स्थान, एसडी पब्लिक स्कूल संतोषगढ़ की प्रिया ने द्वितीय स्थान और इसी स्कूल की प्रियंबदा ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। गीतिका प्रतियोगिता में एमआईडीएवी स्कूल मैहतपुर की रेबा ने प्रथम स्थान, सरस्वती विद्या मंदिर रायपुर सहोड़ा की महक ने द्वितीय स्थान, एसएसआरवीएम नंगल स्कूल की श्री वाणी और सरस्वती विद्या मंदिर रायपुर सहोड़ा की वंशिका ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। भजन गायन प्रतियोगिता में  एस. डी पब्लिक स्कूल संतोषगढ़ की विदुषी जोशी ने प्रथम स्थान, इसी स्कूल के भूपेंद्र ने द्वितीय स्थान, एमआई  डीएवी स्कूल मैहतपुर की हर्षप्रीत ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। सभी विजेता रहे छात्र-छात्राओं और प्रतिभागियों को मुख्यातिथि द्वारा नकद इनाम, गीता और डायरी भेंट किए गए। इस अवसर पर प्रदेश ब्राह्मण सभा के संरक्षक पंडित शिव किशोर, संतोषगढ़ ब्राह्मण सभा के प्रधान पंडित प्यारे लाल , जिला परिषद सदस्य पंकज सहोड़, पार्षद अंजना, कुसुम, एस.डी, गणपति गौतम, राकेश, वेद, नागेश, नरेश पराशर, मदन लाल भारद्वाज, वरिंद्र, विजय, नरेश, कमल, राम, शाम, दिलबाग तथा ब्राह्मण कल्याण सभा के अन्य सदस्य, विद्यालयों के अध्यापक एवं अध्यापिकाएं तथा नगर के अनेक गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

You might also like