जैदी, नेगी और जोशी के खिलाफ चार्जशीट

बहाली, पोस्टिंग के बाद प्रदेश सरकार की बड़ी कार्रवाई

शिमला – पुलिस लॉकअप में सूरज हत्या मामले में आरोपित प्रदेश के तीन पुलिस अफसरों को राज्य सरकार ने चार्जशीट कर दिया है। पिछले सप्ताह ही इन अधिकारियों को राहत देते हुए सरकारी सेवा में पुनः बहाल किया गया था और नई पोस्टिंग भी दी गई थी। अब सरकार ने आईजी जहूर जैदी, शिमला के पूर्व एसपी डीडब्ल्यू नेगी व ठियोग के पूर्व डीएसपी मनोज जोशी को चार्जशीट कर विभागीय जांच शुरू कर दी है। ऐसे में अब विभागीय जांच के दौरान इन अधिकरियों को पदोन्नति सहित अन्य लाभ नहीं मिल सकेंगे। प्रदेश सरकार ने बीते दिनों इन अफसरों की पोस्टिंग देते हुए जहूर जैदी को वक्फ बोर्ड में सीईओ, डीडब्ल्यू नेगी को कमांडेंट होमगार्ड्स बिलासपुर और मनोज जोशी को डीएसपी सिक्सथ बटालियन कोलर जिला सिरमौर के पद पर तैनाती दी थी। सीबीआई जांच के बाद भले ही सरकार ने तीनों पुलिस अफसरों को राहत दी हो, मगर चार्जशीट कर विभागीय जांच भी शुरू कर दी। जानकारी के मुताबिक अब तीनों पुलिस अफसरों के खिलाफ जांच काफी लंबी चल सकती है। कोटखाई केस से जुडे़ सूरज हत्याकांड के दौरान सरकार ने जैदी को 29 अगस्त, 2017 को डीम्ड सस्पेंड किया गया था। इसी बीच शिमला के पूर्व एसपी डीडब्ल्यू नेगी को 16 नवंबर, 2017 को डीम्ड सस्पेंड कर दिया था। उन्हें प्रदेश सरकार ने 16 नवंबर, 2019 से बहाली दी गई। इसी तरह से ठियोग के पूर्व डीएसपी मनोज जोशी को सरकार ने 29 अगस्त, 2017 को डीम्ड सस्पेंड कर दिया था, जिन्हें अब सरकार ने 16 नवंबर, 2019 से बहाली दी है। उल्लेखनीय है कि कोटखाई प्रकरण में पुलिस लॉकअप में हुई सूरज की हत्या के मामले के बाद ही तीनों पुलिस अफसरों को सीबीआई ने गिरफ्तार किया था, जिन्हें जमानत मिली हुई है, लेकिन चंडीगढ़ कोर्ट में ट्रायल चला हुआ है। दूसरी तरफ प्रदेश सरकार ने उन्हें चार्जशीट कर विभागीय जांच भी शुरू कर दी है।

पूरे मामले में कब, क्या हुआ

4 जुलाईः कोटखाई के महासू स्कूल की छात्रा गायब

5 जुलाईः परिजनों ने छात्रा की जंगल में तलाश की

6 जुलाईः छात्रा का शव जंगल में मिला, पुलिस जांच शुरू

7 जुलाईः पोस्टमार्टम में दुष्कर्म की पुष्टि

10 जुलाईः राज्य सरकार ने एसआईटी  गठित की, आईजी जहूर जैदी को सौंपा गया जिम्मा

11 जुलाईः चार युवकों को पूछताछ के लिए पकड़ा 

18 जुलाईः  कोटखाई में बड़ा प्रदर्शन, रात को पुलिस हिरासत में एक आरोपी की हत्या

20 जुलाईः हाई कोर्ट ने सीबीआई को सौंपा जांच का जिम्मा

22 जुलाईः सीबीआई ने दिल्ली में किए अलग-अलग मामले दर्ज

29 अगस्तः आईजी सहित आठ पुलिस कर्मी गिरफ्तार

16 नवंबरः पूर्व एसपी डीडब्लयू नेगी गिरफ्तार

 25 नवंबरः एसआईटी के खिलाफ चार्जशीट दायर

 25 अप्रैल, 2018ः सीबीआई ने कोर्ट में फाइनल स्टेटस रिपोर्ट पेश की

5 अप्रैल, 2019ः आईजी जहूर जैदी को सुप्रीम कोर्ट से मिली जमानत।

18 अप्रैल, 2019ः पूर्व एसपी डीडब्ल्यू नेगी को हाई कोर्ट से मिली जमानत।

25 नवंबरः अफसरों की सेवाएं बहाल करने की अधिसूचना

27 नवंबर, 2019 को सरकार ने दी पोस्टिंग

दो दिसंबरः  विभागीय जांच शुरू

You might also like