तपोवन में आज से तपेगी विधानसभा

 धर्मशाला –तपोवन में नौ से 14 दिसंवर तक चलने वाले शीतकालीन सत्र के लिए सरकार व विपक्ष सहित तमाम अधिकारी धर्मशाला पहुंच गए हैं। मुख्यमंत्री के धर्मशाला पहुंचने पर विधायकों मंत्रियों सहित भाजपा कार्यकर्ताओं ने उनका जोरदार स्वागत किया। तपोवन में सोमवार से शीत सत्र शुरू होगा। छह दिन तक चलने वाले विधानसभा के सत्र में खूब तपिश रहने वाली है। विपक्ष ग्लोबल इन्वेस्टर मीट, धारा 118, सड़क, बिजली, पानी, स्वास्थ्य, विभिन्न विभागों में खाली पड़े पदों सहित कई मुद्दों पर सरकार को घेरने की कोशिश करेगा। वहीं, सतापक्ष भी विपक्ष के सवालों का जवाब देने के लिए पूरी तरह तैयार है। सरकार व विपक्ष ने रविवार को धर्मशाला पहुंचने के बाद अलग-अलग बैठकें कर अपने अपने विधायकों के साथ रणनीति तैयार की। शीत सत्र के लिए धर्मशाला पहुंचे मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर का प्रशासन व भाजपा नेताओं सहित कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्वागत किया। इसके बाद मुख्यमंत्री सीधे सर्किट हाउस चले गए, जहां उनसे मिलने के लिए कई लोग एवं प्रतिनिधिमंडल पहुंचे हुए थे। वहां पहुंचने के बाद उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों से फीडबैक ली। सर्किट हाउस में मुख्यमंत्री के बाद अन्य मंत्री व विधायक भी पहुंचे। देर शाम तक प्रदेश भर से अधिकतर विधायक धर्मशाला पहुंचे। शाम तक धर्मशाला शहर का नजारा पूरी तरह से बदल गया था। सरकारी वाहनों सहित वीआईपी वाहनों की अचानक आवाजाही बढ़ गई। उधर, विधानसभा अध्यक्ष डा. राजीव बिंदल ने भी रविवार को तपोवन पहुंचकर तैयारियां का जायजा लिया। उन्होंने विधानसभा परिसर की तमाम व्यवस्थाओं को बारीकी से देखा और जहां हल्की से भी कमी नजर आई, तुरंत सुधार के आदेश दिए।

विपक्ष के पास नहीं कोई मुद्दा

शीतकालीन सत्र पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि सरकार के दो साल पूरे होने जा रहे हैं। विपक्ष के पास कोई भी बड़ा मुद्दा नहीं है, जिसके आधार पर सरकार पर कोई आरोप लगाया जा सके। सरकार विपक्ष को जवाब देने के लिए पूरी तरह तैयार है।

गुडि़या पर शांता के विचार निजी

गुडि़या प्रकरण पर परिजनों व विशेषकर भाजपा के पूर्व सांसद शांता कुमार द्वारा जांच के मामले पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि यह उनके अपने विचार हो सकते हैं। गुडि़या मामला संवेदनशील मुद्दा है और कोर्ट में चल रहा है। इस मामले में लीगल एडवाइज भी लेनी पड़ेगी। मामले में सीबीआई अपनी रिपोर्ट भी सौंप चुकी है। 

You might also like