तपोवन में गूंजेंगे 434 सवाल

 विधायकों में पूरा उत्साह, कई अहम मुद्दों पर चर्चा की तैयारी में पक्ष-विपक्ष

धर्मशाला-विधानसभा अध्यक्ष डा. राजीव बिंदल ने कहा कि तपोवन में चलने वाले शीतकालीन सत्र के लिए विधायकों में खासा उत्साह है। विधायकों ने अपने विधानसभा क्षेत्र सहित विभिन्न मुद्दों पर 434 सवाल किए हैं। विधायकोंं ने सड़क, शिक्षा, स्वास्थ्य, इन्वेस्टर्स मीट, 118 सहित अपने विधानसभा क्षेत्रों के जनता से जुड़े कई अहम मामले सरकार के समक्ष उठाया है। उन्होंने कहा कि वॉकआउट प्रतिपक्ष का अधिकार है। विपक्ष अपनी आवाज को जोरदार तरीके से उठाए, लेकिन उनसे यह भी आग्रह रहेगा कि वह सदन में लौटकर चर्चा में भी भाग लें, जिससे जनता के मुद्दों पर चर्चा हो सके। उन्होंने कहा कि यह हाउस पर निर्भर करेगा कि वह कितने प्रश्नों पर चर्चा कर पाते हैं। धर्मशाला स्थित तपोवन विधानसभा सचिवालय में एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए विधानसभा अध्यक्ष डा. राजीव बिंदल ने कहा कि विधानसभा का सप्तम सत्र नौ दिसंबर को दोपहर बाद दो बजे शुरू होगा। यह सत्र 14 दिसंबर तक चलेगा। डा. बिंदल ने कहा कि इस सत्र का तपोवन में आयोजित करने के लिए विधानसभा सचिवालय ने तैयारियां पूर्ण कर ली हैं। उन्होंने कहा कि इस सत्र के लिए छह बैठकें निर्धारित की गई हैं। सत्र में 12 दिसंबर का दिन गैर सरकारी सदस्य कार्य दिवस के लिए निर्धारित किया गया है। डा. बिंदल ने कहा कि इस सत्र में कुल 434 तारांकित व अतरांकित प्रश्नों की सूचनाएं प्राप्त हुई हैं। इसमें सदस्यों से 270 तारांकित प्रश्न प्राप्त हुए हैं, जबकि 128 अतरांकित प्रश्नों की सूचनाएं भी प्राप्त हुई हैं। इसके अतिरिक्त स्थगित कुल 36 प्रश्नों में 25 तारांकित तथा 11 अतरांकित प्रश्न हैं। डा. बिंदल ने कहा कि नियम-62 के अंतर्गत छह सूचनाएं, नियम-130 के अंतर्गत 13 सूचनाएं, नियम- 101 के अंतर्गत पांच सूचनाएं तथा नियम-324 के अंतर्गत तीन सूचनाएं प्राप्त हुईं। सदस्यों ने अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्र से संबंधित मुख्य मुद्दों को भी प्रश्नों के माध्यम से उजागर किया है। डा. बिंदल ने कहा कि उनका पक्ष तथा विपक्ष से आग्रह रहेगा कि सत्र के संचालन में अपना रचनात्मक सहयोग दें। सदन ही लोगों की समस्याओं को उठाने व उनके समाधान का सबसे सर्वोत्तम स्थान है और इसका इस्तेमाल सदस्यों द्वारा जनहित से जुडे़ मुद्दे उठाने के लिए करना चाहिए। डा. बिंदल ने कहा कि सदस्य नियमानुसार चर्चा में भाग लें तथा सदन के समय का सार्थक चर्चाओं हेतु सदुपयोग करें।

विधानसभा भवन में ही होगी वीडियो कान्फ्रेंसिंग

तपोवन विधानसभा में इस बार मुख्यमंत्री सहित अन्य मंत्रियों को वीडियो कान्फ्रेंस करने के लिए भी विधानसभा भवन के कान्फ्रेंस हाल में ही व्यवस्था कर दी है। सोमवार को विधानसभा  अध्यक्ष डा. राजीव बिंदलने इस बात की जानकारी दी। इससे पहले राजधानी सहित अन्य जिलों के अधिकारियों से बात करने के लिए उन्हें उपायुक्त कार्यालय जाना पड़ता था।

विधायकों के मोबाइल पर एजेंडा

देश-विदेश में ख्याति प्राप्त हिमाचल की ऑनलाइन विधानसभा का एजेंडा भी विधायकों के मोबाइल ऐप पर होगा। उन्होंने कहा कि विधायक विधानसभा में जो स्पीच देते हैं, उनकी मांग पर उपयोग के लिए उन्हें मुहैया करवाई जा सकती है। इसका भी प्रावधान किया गया है।

पहली बार आने वालों का स्वागत

डा. बिंदल ने इस सत्र में पहली बार शामिल हो रहे नवनिर्वाचित सदस्यों विशाल नैहरिया व रीना कश्यप को शुभाकामनाएं देते हुए आशा व्यक्त की कि वे संसदीय परंपराओं एवं मर्यादाओं का सम्मान करते हुए सदन की गरिमा बढ़ाने में महत्त्वपूर्ण योगदान देंगे तथा अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों की समस्याओं को सदन में प्रमुखता से रखेंगे। इस अवसर पर विधानसभा सचिव यशपाल शर्मा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे। उन्होंने बताया कि सत्र शुरू होने से पहले सोमवार को संसदीय कार्यमंत्री व नेता प्रतिपक्ष के बैठक होगी।

You might also like