दो इंग्लिश लेक्चरर की रुकी सैलरी

हाई कोर्ट के आदेशों के बाद ही कार्रवाई करेगा शिक्षा विभाग

सुंदरनगर – राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक बाल पाठशाला सुंदरनगर में इंग्लिश लेक्चरर की पिछले करीब 8-10 माह की सैलरी पर रोक लगा दी है। आलम यह है कि यहां पर कमीशन के आधार पर शिक्षा विभाग के निर्देशों के तहत कमीशन पास करने वाले लेक्चरर की तैनाती की गई थी, लेकिन लेक्चरर की तैनाती के कुछ समय बाद ही वहां पर राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला सेरीकोठी से भी एक अन्य लेक्चरर की तैनाती तबादले के तहत कर दी गई। एक ही पोस्ट के लिए जहां पर कमीशन पास करने के बाद शिक्षा विभाग के नियमों पर खरा उतरने वाले लेक्चरर की तैनाती कर दी थी। वहीं दूसरी ओर सरकार की तबादला नीति के तहत एक अन्य शिक्षक की तैनाती कर देने से वहां पर एक ही पोस्ट पर दो-दो लेक्चरर वर्तमान में सेवा दे रहे हैं, जिससे बच्चों को उक्त दोनों शिक्षकों की सेवाओं का लाभ भले ही मिल रहा हो, लेकिन जिस जगह से सेरीकोठी स्कूल से शिक्षक बाल स्कूल में नियुक्त किया गया है, तो अवश्य ही सेरीकोठी स्कूल की पढ़ाई बाधित हुई होगी। वहीं दूसरी ओर न्याय की गुहार लगाने के लिए हिमाचल प्रशासनिक में अपना-अपना पक्ष रखने के लिए दोनों लेक्चरर्ज ने आवेदन कर रखा है, लेकिन ट्रिब्यूनल को भंग करने के बाद अब मसला हाई कोर्ट में जा पहुंचा है और इस वजह से दोनों की सैलरी पर वर्तमान में रोक लगा दी है। उधर, स्कूल प्रिंसीपल सुंदर सिंह ठाकुर का कहना है कि यहां पर कमीशन पासआउट की तैनाती शिक्षा विभाग के आदेशों के तहत हुई थी, लेकिन कुछ ही समय के बाद हिमाचल सरकार के तबादला नीति के तहत एक अन्य की भी ट्रांसफर इस स्कूल में इंग्लिश विषय के लिए ही बतौर लेक्चरर की है। इससे एक पद पर दो-दो लेक्चरर होने से मसला आगामी कार्रवाई के लिए हाई कोर्ट में विचाराधीन है।

You might also like