पहले दिन 32 सवाल-जवाब

पहले दिन सदन के सभा पटल पर प्रश्नकाल के लिए 32 प्रश्न और उनके जवाब रखे गए। इसमें विधायक राकेश सिंघा ने सेबों के कमीशन एजेंट्स द्वारा बागबानों से लूटे गए पैसों और शिकायतों के संबंध में सवाल उठाया, जिसमें मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सभा पटल पर जवाब रखते हुए कहा कि बागबानों से सेब लेकर पैसे न देने के मामले में एसआईटी का गठन किया गया है। इसके तहत तीन साल में 573 शिकायतें अब तक दर्ज हो चुकी हैं। इसके तहत प्रदेश के बागबानों से 22 करोड़ दो लाख 77 हजार 963 रुपए भी ठगे गए हैं, जिसमें एसआईटी ने कार्रवाई करते हुए छह करोड़ 52 लाख रुपए की रिकवरी कर ली है, जबकि बागबानों के बाकी पैसे पूरी तरह फंसे हुए हैं।

सिंगल विंडो सिस्टम से शुरू होंगे 168 उद्योग

धर्मशाला। कांग्रेस के विधायक सुखविंदर सिंह सुक्खू ने सिंगल विंडो सिस्टम के तहत लगे उद्योग को लेकर प्रश्न रखा, जिस पर जवाब सदन के सभा पटल में रखा गया। इसके तहत अब तक 168 इंडस्ट्री यूनिट को सिंगल विंडो के तहत क्लीयरेंस प्रदान की गई है, जिसमें 5435.87 करोड़ प्रस्तावित खर्च है। वहीं, 30 यूनिट से ही 1689 व्यक्तियों को रोजगार मिलना भी प्रस्तावित है। प्रदेश में 77 यूनिट चल रहे हैं, जिसके तहत 2165.44 करोड़ खर्च प्रस्तावित है, और 7278 को रोजगार मिल रहा है। मुख्यमंत्री स्वालंबन योजना के सवाल में सभा पटल में रखे गए जवाब के तहत अब तक मात्र 428 यूनिट स्थापित किए गए हैं, जिसमें 7916.69 लाख से 1597 लोग स्वरोजगार व रोजगार से जुड़े हैं।

प्रशासनिक ट्रिब्यूनल बंद, 17203 केस हाई कोर्ट ट्रांसफर

सुजानपुर के विधायक राजेंद्र राणा के उठाए सवाल पर सीएम ने जवाब रखा कि प्रशासनिक ट्रिब्यूनल के 26 जुलाई को बंद करते समय 17203 मामले लंबित थे, जिन्हें उच्च न्यायलय में ट्रांसफर कर दिया गया है। वहीं, 88 कर्मचारियों को हाई कोर्ट में शिफ्ट किया जा रहा है, जिसमें 70 को नियुक्त कर दिया गया है।

मटौर कालेज के भवन का क्या

कांगड़ा के विधायक पवन काजल के सवाल में शिक्षा मंत्री ने जवाब रखते हुए बताया कि मटौर कालेज में मौजूदा समय में 866 छात्र पढ़ाई कर रहे हैं। साथ ही कालेज भवन के निर्माण में 11 करोड़ 66 लाख रुपए बजट खर्च किए जाने का प्रोपोजल है। इसके अलावा शैक्षणिक सत्र 2019-20 में 25 लाख रुपए जारी कर दिए गए हैं।

पांगी में टूरिज़्म के नाम पर सिर्फ ट्रेनिंग

जिला चंबा के अति जनजातीय क्षेत्र पांगी में पर्यटन क्षेत्र में विकास के नाम पर मात्र प्रशिक्षण के लिए ही बजट जारी किया गया है। भरमौर के विधायक जिया लाल के प्रश्न पर सदन पर जवाब रखते हुए सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि पर्यटन में प्रशिक्षण के लिए पांगी के लिए छह लाख 39 हजार जारी किए गए हैं, जिसमें तीन लाख दस हजार 800 रुपए खर्च किए गए हैं। इसके अलावा पर्यटन के क्षेत्र में बढ़ाबा देने के लिए पांगी के लिए कोई विशेष पैकेज नहीं है। इसके अलावा दूसरे सवाल का जवाब रखते हुए सीएम ने कहा कि पांगी में दस साल में 26 भीषण अग्निकांड हो चुके हैं। बावजूद इसके प्रदेश सरकार का क्षेत्र में कोई भी अग्निशमन केंद्र खोलने की योजना नहीं बन पाई है।

You might also like