पेंशनर्ज की अनदेखी कर रही सरकार

पेंशनर वेलफेयर एसोसिएशन के राज्य प्रवक्ता ने साधा निशाना

चंबा – हिमाचल प्रदेश पेंशनर वेलफेयर एसोसिएशन के राज्य प्रवक्ता पीसी ओबराय ने सरकार पर पेंशनरों की अनदेखी का आरोप जड़ा है। उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से पेंशनरों की मांगों व समस्याओं के निपटारे को लेकर कोई प्रभावी कदम नहीं उठाए गए हैं। इतना ही दो वर्ष बीत जाने के बाद भी संयुक्त सलाहकार कमेटी का गठन तक नहीं हो पाया है, जिससे पेंशनर खुद को ठगा महसूस कर रहे हैं। पीसी ओबराय ने कहा कि भाजपा ने चुनावी घोषणा पत्र में वायदा किया था कि सत्ता में आने पर पेंशनधारकों की लंबित मांगों का प्राथमिकता के आधार पर निपटारा किया जाएगा। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार को सत्ता में आए दो वर्ष का समय पूर्ण हो चुका है, लेकिन पेंशनरों की मांगों व समस्याओं को लेकर कोई गंभीर प्रयास होते नही दिख रहे। पीसी ओबराय ने मुख्यमंत्री को याद दिलाते हुए कहा है कि वर्ष 2018 में अखिल भारतीय पेंशनर दिवस पर संयुक्त सलाहकार कमेटी के गठन और मांगों के जल्द निपटारे की बात कही थी, लेकिन एक वर्ष का अरसा गुजर जाने के बावजूद इसको लेकर भी कोई कदम नहीं उठाया गया है। पीसी ओबराय ने सरकार ने आग्रह किया है कि दो वर्ष का कार्यकाल पूरा होने के मौके पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम दौरान पेंशनरों की मुख्य मांगों को मानने की घोषणा कर उनमें पनप रहे रोष को समाप्त करे। पीसी ओबराय ने साथ ही संयुक्त सलाहकार कमेटी का गठन कर जल्द बैठक बुलाने की बात भी कही है। उन्होंने साथ ही प्रदेश के हर जिला मुख्यालय में पेंशनर होम खोलने की मांग भी की।

You might also like