बिंदल ने मां चिंतपूर्णी के दर टेका माथा

विधानसभा अध्यक्ष ने नवाया शीश; कहा, विधानसभा सत्र में प्रदेश के मसले उठाए विपक्ष

चिंतपूर्णी – हिमाचल प्रदेश के विधानसभा डा. अध्यक्ष राजीव विंदल के विश्व विख्यात शक्ति पीठ मंदिर माता श्री चिंतपूर्णी में अपनी पत्नी सहित माता के दर्शन किए। इस दौरान पत्रकारों से बात करते हुए विधानसभा अध्यक्ष राजीव विंदल ने कहा कि लोकतंत्र में विधानसभा सत्र सदैव ही महत्त्वपूर्ण रहा हैं। इसमें प्रतिपक्ष के लिए एक सुनहरा अवसर रहता हैं, जिसमें वह अपनी आवाज को बुलंद कर सकते हैं अपनी उपस्थिति दर्ज करवा सकते हैं वह प्रदेश के मुद्दे उठा सकते हैं, वह विधायक अपनी विधानसभा क्षेत्र के मुद्दे को प्रश्नों के माध्यम से सरकार के समक्ष रख रखते हैं वह सरकार के लिए भी एक बेहतरीन अवसर होता है। जब वह साल वह छह महीनों के कार्य को प्रश्नों के उत्तर से जनता के सामने ला सकते हैं। उन्होंने कहा कि विधानसभा सत्र प्रारंभ होने जा रहा है। छह दिन चलने वाले इस सत्र माननीय विधायकों ने भरपूर प्रश्न दिए हैं। नियम 62 के अंतर्गत,नियम 130 के अंर्तगत वह नियम 101 के तहत नोटिस दिए हैं। सत्र छह दिन चले वह सभी अपनी शक्ति के अनुसार जनहित के प्रश्न उठाएं। ई-विधानसभा पर पूछे गए सवाल पर विधानसभा अध्यक्ष राजीव विंदल ने कहा कि ई-विधानसभा सभा सारे भारत ने इसे स्वीकार किया है।

You might also like