बीजेपी में रहने या छोड़ने को लेकर गहराते सस्पेंस के बीच बोलीं पंकजा मुंडे, आरोपों से हूं आहत, 12 दिसंबर को बोलूंगी

मुंबई  –  अपनी नाराजगी और पार्टी छोड़ने संबंधी अटकलों के बीच महाराष्ट्र की पूर्व मंत्री और बीजेपी नेता पंकजा मुंडे के अपने अगले कदम को लेकर जबरदस्त सस्पेंस बना हुआ है। मुंडे भी अपने बयानों और सोशल मीडिया पोस्टों के जरिए लगातार सस्पेंस को बढ़ा रही हैं। फेसबुक पर अपनी नाराजगी का संकेत देने के बाद जब उन्होंने ट्विटर पर अपने बायो से ‘बीजेपी’ शब्द हटाया तो माना जाने लगा कि वह अलग राह पकड़ सकती हैं। इसी बीच उन्होंने मंगलवार को देश के पहले राष्ट्रपति डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद को श्रद्धांजलि देते हुए फेसबुक पर बीजेपी का चुनाव चिह्न कमल भी पोस्ट किया। अब जब यह माना जाने लगा कि शायद पार्टी से उनकी नाराजगी दूर हो गई है तब उन्होंने यह बयान देकर सस्पेंस और गहरा दिया कि वह 12 दिसंबर को ही अपने दिल की बात कहेंगी।

‘आरोपों से आहत हूं, अब 12 दिसंबर को ही बोलूंगी’
बीजेपी के कद्दावर नेता रहे गोपीनाथ मुंडे की बेटी पंकजा मुंडे ने मंगलवार को कहा कि वह बीजेपी की एक ईमानदार कार्यकर्ता रही हैं और वह अपने ऊपर लगे आरोपों से आहत हैं। उन्होंने कहा, ‘मैं पार्टी (बीजेपी) का ईमानदार कार्यकर्ता रही हूं, मैंने पार्टी के लिए काम किया है। अपने खिलाफ लगे आरोपों से मैं व्यथित हूं। मैं अब 12 दिसंबर को ही बोलूंगी, फिलहाल मैं कुछ नहीं कहना चाहती हूं।’ पंकजा ने यह बयान इस सवाल पर दिया कि क्या वह बीजेपी को छोड़ने जा रही हैं।

You might also like