मंडी में ही बनेगा बड़ा हवाई अड्डा

 मंडी –मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के ड्रीम प्रोजेक्ट हवाई अड्डे पर मुआवजा राशि व कई तकनीकि खामियों ने बेशक संदेह के बादल पैदा कर दिए हों, लेकिन मुख्यमंत्री मंडी में ही बड़ा एयरपोर्ट बनाने के लिए अडिग हैं। उन्होंने दो टूक कहा है कि अगर एयरपोर्ट के  लिए किन्हीं कारणों से बल्ह की साइट फाइनल नहीं हो पाती है, तो ऐसी स्थिति में भी हवाई अड्डा मंडी में ही किसी दूसरी जगह पर बनाया जाएगा। बल्ह में आ रही दिक्कतों व भूमि अधिग्रहण के लिए 2500 करोड़ की बड़ी राशि को देखते हुए प्रदेश सरकार ने मंडी में ही दूसरी जगह संभावनाओं की तलाश भी शुरू कर दी है। रविवार को मंडी पहुंचे मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में कहा कि वह मंडी जिला में बड़ा एयरपोर्ट बनाने के लिए अडिग हैं और केंद्र सरकार से उन्हें पूरा सहयोग मिल रहा है। बल्ह में जमीन तलाश ली गई है और केंद्र से इसके लिए मंजूरी भी मिल चुकी है। मुख्यमंत्री ने रविवार को मंडी शहर में विक्टोरिया पुल के निकट ब्यास नदी पर 25.50 करोड़ रुपए की लागत से 156.40 मीटर लंबे पुल का लोकार्पण करने के बाद पत्रकारों से बातचीत में कहा कि हमारी इच्छा है कि मंडी में एक बड़ा एयरपोर्ट बने, लेकिन इसके साथ-साथ बहुत सारी टेक्निकल चीजें हैं। हमारे कहने मात्र से वे सारी चीजें नहीं हो सकती हैं, लेकिन फिर भी मैं इस बात पर अडिग हूं कि मंडी में एक बड़ा एयरपोर्ट होना चाहिए, जिसके लिए हमने स्थान चिन्हित किया और कैबिनेट से उसकी लैंड और अन्य प्रोसेस आगे बढ़ाने की सारी औपचारिकताएं पूर्ण कर ली हैं। केंद्र में हमने नागरिक उड्डयन, पर्यटन, वित्त मंत्री और स्वयं प्रधानमंत्री से भी बात की है। हवाई अड्डे के निर्माण में लागत बहुत ज्यादा आ रही है। जमीन बल्ह के उस क्षेत्र की है, जो बहुत उपजाऊ है। उस दृष्टि से लागत बढ़ रही है, लेकिन हम इसे भविष्य की जरूरत के हिसाब से बनाएंगे। अभी इसकी अनुमानित लागत का काम प्रोसेस में है, लेकिन 2500 करोड़ रुपए केवल जमीन का मुआवजा देने में ही खर्च होने का अनुमान है, जबकि कंस्ट्रक्शन वर्क इसके अलावा है। उधर, सरकार ने एक अन्य स्थान दं्रग के बासाधार से लेकर बधौणीधार में भी एयरपोर्ट बनाने के लिए जमीन देखी गई है। हम चाहते हैं कि बड़ा बोइंग जहाज उतरने की क्षमता वाला एयरपोर्ट बने और इसके लिए रन-वे 2100 मीटर से 3100 मीटर तक चाहिए और उस हिसाब से जमीन और अन्य संभावनाएं तलाश की जा रही हैं, लेकिन इतना तय है कि एयरपोर्ट मंडी जिला में और एनएच के आसपास ही बनाया जाएगा, ताकि हमारी सीधी कनेक्टिविटी मनाली और चंडीगढ़ से बाया रोड भी बनी रहे। इस अवसर पर सांसद राम स्वरूप शर्मा, विधायक अनिल शर्मा, विनोद कुमार, इंद्र सिंह गांधी, राकेश जम्वाल, जवाहर ठाकुर, हीरा लाल, जिला भाजपा अध्यक्ष रणवीर ठाकुर, नप अध्यक्ष सुमन ठाकुर, महासचिव बाल कल्याण परिषद पायल वैद्य और अन्य लोग उपस्थित रहे।

You might also like