महिलाओं को प्रोत्साहित करने के लिए हों कार्यक्रम

कैथल –उपायुक्त डा. प्रियंका सोनी ने कहा कि महिला सशक्तिकरण के लिए समाज में प्रोत्साहित करने वाले कार्यक्रम समय-समय पर किए जाने चाहिए, ताकि महिलाएं प्रोत्साहित होकर आगे बढ़ सकें। 28 नवंबर से महिला फिल्म उत्सव का शुभारंभ किया था, जो कि महिलाओं के लिए काफी लाभप्रद रहा। डा. प्रियंका सोनी लघु सचिवालय स्थित ईवीएम भंडारगृह में जिला प्रशासन द्वारा चलाए गए साप्ताहिक महिला फिल्म उत्सव के समापन अवसर पर महिलाओं को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने चक दे इंडिया फिल्म देखने के उपरांत कहा कि महिलाएं वर्तमान समय में किसी भी क्षेत्र में पुरुषों से पीछे नहीं हैं। महिलाओं ने कठिन परिश्रम एवं दृढ निश्चय से उच्च मुकाम हासिल किए हैं। उन्होंने कहा कि सभी महिलाएं अपनी बेटियों को स्वावलंबी बनाने के लिए उन्हें पूरे अवसर प्रदान करें। लड़कियों को उच्च शिक्षा दिलवाकर उन्हें स्वावलंबी बनाएं। महिला फिल्मोत्सव में दंगल, नीरजा, चकदे इंडिया, इंग्लिश-विंग्लिश, मिशन मंगल, सुल्तान, सीक्रेट सुपर स्टार फिल्में दिखाई गई। उन्होंने कहा कि देश भर की वो महिलाएं जिन्होंने अपने जज्बे और मेहनत से नया मुकाम हासिल किया है, ऐसी महिलाओं को प्रतिबिबित करती हुई फिल्में दिखाने का उद्देश्य मात्र यही रहा कि आम महिला इन फिल्मों के माध्यम से प्रेरित होकर अपने क्षेत्र में पूरी शिद्धत के साथ आगे बढ़े और कामयाबी हासिल करके समाज के नव निर्माण में अपना योगदान दें। उन्होंने कहा कि भारत वर्ष की महिलाओं का इतिहास गवाह है, जब-जब नारी ने कुछ करने की ठानी है तो कामयाबी ने उसके कदम चूमे हैं। बात चाहे भारत की महिला खिलाडि़यों की रही हो या फिर अन्य व्यवसायिक व प्रशासनिक क्षेत्रों में दी गई भागीदारी ने पूरे विश्व में भारतीय नारी का परचम फहराया है। इस मौके पर महिला एवं बाल विकास विभाग की अधिकारी, कर्मचारियों के साथ-साथ आंगनबबाड़ी वर्कर, बेटियों की माताएं व अन्य महिलाएं शामिल रहीं।

You might also like