मैथ्स में रोजगार की भरमार

गणित में करियर संबंधित विस्तृत जानकारी प्राप्त करने के लिए हमने आईवी मलहान से बातचीत की। प्रस्तुत हैं बातचीत के प्रमुख अंश…

प्रो. आईवी मलहान

अध्यक्ष, मैथेमेटिक्स विभाग हिमाचल प्रदेश केंद्रीय विश्वविद्यालय, शाहपुर, धर्मशाला

वर्तमान समय में मैथ्स में करियर का क्या स्कोप है?

आज के समय में मैथ्स में करियर आसमान की बुलंदियां छू रहा है। टीचिंग, मैथमेटिकल मॉडलिंग, एप्लीकेशन, इंडस्ट्री और कम्प्यूटर में करियर बनाया जा सकता है।

इस क्षेत्र में करियर बनाने के लिए शैक्षणिक योग्यता क्या होती है? स्पेशल कोर्स कौन-कौन से किए जा सकते हैं?

पोस्ट ग्रेजुएशन, एमएससी मैथ्स, नेट-जेआरएफ रिसर्च करके करियर संवारा जा सकता है।

रोजगार के अवसर किन क्षेत्रों में उपलब्ध हैं?

हर फील्ड में मैथ्स में रोजगार की भरमार है। टीचिंग, इंडस्ट्री, कम्प्यूटर प्रोग्रामिंग और सेटेलाइट में भी रोजगार उपलब्ध है।

कहीं जॉब मिलने पर आरंभिक आय कितनी होती है?

आज के समय में टीचिंग से लेकर इंडस्ट्री तक में जॉब्स हैं। ऐसे में योग्यता के हिसाब से आंरभिक आय में भी बहुत अधिक अंतर होता है। कहीं आय 20 तो कहीं 60-80 हजार रुपए भी हो सकती है।

बाकी विषयों के मुकाबले आप गणित को कैसे देखते हैं ? क्या यह वाकई मुश्किल विषय है?

गणित विषय अपने साथ कई मौके लेकर चलता है। लोग गणित विषय के नाम से घबराते हैं, लेकिन दिलचस्पी लेकर सब्जेक्ट काफी इंट्रस्टिंग बन जाता है। बाकी विषयों से ज्यादा इस में दिलचस्पी बन जाती है।

इस विषय का खौफ छात्रों में इतना क्यों है?

गणित के नाम से ही लोग घबराने लग जाते हैं। दिलचस्पी के साथ पढ़ने पर विषय का अपना ही आंनद है। रुचि ही इसे आसान बनाती है।

जो युवा इस फील्ड में आना चाहते हैं, उनके लिए कोई पे्ररणा संदेश दें।

मैथमेटिक्स एक महत्त्वपूर्ण विषय है। युवाओं को इस फील्ड में रुचि लेकर आगे आना चाहिए। प्राइमरी स्कूल से लेकर सेटेलाइट तक में मैथ्स का महत्त्व बढ़ा है।

— नरेन कुमार, धर्मशाला

You might also like