राजपुरा जेल में कैदियों को समझाई एड्स

जागरूकता शिविर के दौरान स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने बीमारी पर जगाया अलख

चंबा  – स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग चंबा की ओर से सोमवार को जिला कारागार राजपुरा में एचआईवी एड्स को लेकर जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। जिला स्वास्थ्य प्रोग्राम अधिकारी जालम भारद्वाज ने की अध्यक्षता में आयोजित किए गए जागरूकता शिविर में एचआईवी एड्स के संक्रमण के फैलने के साथ ही इस पर काबू पाने संबंधित विषयों पर गहन जानकारी प्रदान की गई। उन्होंने सभी जेलर को स्वेच्छा से एचआईवी टेस्ट करवाने तक एचआईवी पाजीटिव होने पर एआरटीथैरेपी शुरू करने की बात कही। उन्होंने कहा कि एड्स से ग्रस्ति व्यक्ति एआरटीथैरेपी से व्यक्ति नार्मल जीवन व्यतीत कर सकता है। उन्होंने कहा कि एड्स जैसी बीमारी का सही इलाज संभव नहीं है, लेकिन विशेषज्ञों की सलाह अनुसार स्वस्थ जीवन शैली अपनाकर इससे ग्रस्त व्यक्ति लंबा जीवन जी सकता है। उन्होंने कहा कि एचआईवी एड्स असुरक्षित जीवन संबंध, एचआईवी संक्रमित रक्त चढ़ाना, एचआईवी संक्रमित सिरींज के उपयोग के अलावा एचआईवी ग्रस्त गर्भवती महिलाओं से होने वाले बच्चे को भी हो सकता है। लिहाजा गर्भवती के अलावा अन्य लोगों को भी समय समय पर इसकी जांच करवाना अति आवश्यक है। साथ ही उन्होंने शिविर में मौजूद कैदियों के अलावा अन्य को नशे के दुष्प्रभावों एवं इससे दूर रहने की बात कही।

 

You might also like