वर्दियों से उतर रहा रंग

विधायक सतपाल सिंह रायजादा ने बोला सरकार पर हमला

ऊना – ऊना सदर के विधायक सतपाल सिंह रायजादा ने कहा कि प्रदेश सरकार शैक्षणिक व्यवस्था के साथ ही मजाक करने का प्रयास कर रही है। गुरुवार को सतपाल रायजादा ने कहा कि अनेक स्कूलों में अध्यापकों के पद रिक्त हैं और बच्चों को पढ़ाई में दिक्कतें पेश आ रही हैं। वहीं दो साल के बाद जयराम सरकार ने स्कूली बच्चों को वर्दियां दीं, लेकिन ये वर्दियां बच्चों के लिए खुशी से ज्यादा दुख का कारण बन रही है, क्योंकि घटिया स्तर पर कपड़े का प्रयोग किया गया है।  रंग उतर रहा है और अनेक शिकायतें प्राप्त हो रही हैं। इतना हीं नहीं प्रदेश सरकार ने जो बैग दिए उसमें प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री की फोटो की क्वालिटी का तो ध्यान रखा गया, लेकन बैग की क्वालिटी का कोई ध्यान नहीं रखा गया, जिसके चलते ये बैग दम तोड़ रहे हैं। रायजादा ने कहा कि करीब 70 करोड़ रुपए खर्च करने के बाद भी सरकार बच्चों को बेहतर वर्दियां व बैग नहीं दे पा रही है। हिमाचल में ही यदि सरकार प्रयास करती तो बेहतर गुणवत्ता के कपड़े के बैग लिए जा सकते थे, लेकिन ऐसा लगता है कि यह सब दबाव के चलते किसी फर्म विशेष से काम लिया गया है, जिस पर सरकार मेहरबान हुई है। सतपाल रायजादा ने कहा कि अब कांग्रेस ने मामला उठाया तो शिक्षा मंत्री इस पर जवाब तलबी कर रहे हैं और इससे पहले कुछ किया नहीं। उन्होंने कहा कि अब तो विधानसभा में कांग्रेस पार्टी इस पर सरकार से जवाब मांगेगी कि आखिर बच्चों के साथ इस प्रकार का भद्दा मजाक कैसे किया गया।  उन्होंने कहा कि आने वाले विधानसभा सत्र में प्रदेश हित के मुद्दों को प्रमुखता के साथ उठाकर सरकार से जवाब लिया जाएगा।

You might also like