हमीरपुर को आज मिलेंगे दो विद्युत उपकेंद्र

मुख्यमंत्री लंबलू-खग्गल में करेंगे शिलान्यास, दोनों उपकेंद्रों से 70 हजार लोग होंगे लाभान्वित

शिमला – मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर आगामी शुक्रवार को जिला हमीरपुर में दो विद्युत उपकेंद्रों का शिलान्यास करेंगे। इन दोनों उपकेंद्रों के निर्मित होने से 22 पंचायतों के  करीब 70 हजार लोग लाभान्वित होंगे। जिला हमीरपुर के गसोता में 33 केवी विद्युत उपकेंद्र लंबलू और 33 केवी विद्युत उपकेंद्र खग्गल (नाल्टी) का शिलान्यास दोपहर 12 बजे करेंगे। इस अवसर पर वित्त एवं राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर और विधायक नरेंद्र ठाकुर सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहेंगे। स्टेट इलेक्ट्रीसिटी बोर्ड लिमिटेड के संयुक्त निदेशक (लोक संपर्क) अनुराग पराशर ने बताया कि लंबलू और इसके आसपास क्षेत्रों के उपभोक्ताओं को पहले विद्युत आपूर्ति मट्टनसिद्ध विद्युत उपकेंद्र से की जा रही थी। इसकी क्षमता कम होने के कारण विद्युत आपूर्ति में कई बार व्यवधान आ जाता था तथा वोल्टेज भी कम हो जाती थी। अतः हमीरपुर और इसके आसपास की ग्राम पंचायतों धलौट, बोहानी, दुघा, मोरसु सुलतानी, मेहल, ताल, साहनवीन, चमैंड, गसोता, लंबलू, रोहलवीन पट्टा, दुगली, भैर, टीक्कर, झरनोंट तथा आसपास क्षेत्रों के उपभोक्ताओं को विश्वसनीय और गुणवत्तापूर्ण विद्युत आपूर्ति प्रदान करने के लिए स्टेट इलेक्ट्रीसिटी बोर्ड लिमिटेड द्वारा 33 केवी विद्युत उपकेंद्र लंबलू (गसोता) विद्युत उपकेंद्र के निर्माण का निर्णय लिया गया है। 33 केवी विद्युत उपकेंद्र लंबलू (गसोता) के लिए तीन किलोमीटर लंबी डबल सर्किट संचार लाइन व लगभग साढे़ तीन किलोमीटर नई संचार लाइन भी बनवाई जाएगी। साढ़े सात किलोमीटर पुरानी संचार लाइन की क्षमता को बढ़ाने का प्रावधान रखा गया है। इस प्रकार इस योजना पर कुल पांच करोड़ 49 लाख रुपए की लागत आई है। इस उपकेंद्र से छह फीडर लंबलू, बोहानी, भीरा, लंगवान, भरथिआन, तथा एक फीडर अतिरिक्त के रूप में रहेगा। इस विद्युत उपकेंद्र से क्षेत्र की विद्युत आपूर्ति सशक्त हो जाएगी और कम वोल्टेज की समस्या भी खत्म हो जाएगी। इसके साथ ही संचार एवं वितरण में होने वाली हानियों में भी कमी आएगी। इस विद्युत उपकेंद्र से तहसील हमीपुर की 16 पंचायतों के 53 गांवों के लगभग 40 हजार लोग लाभान्वित होंगे। हमीरपुर के नाल्टी और इसके आसपास क्षेत्रों के उपभोक्ताओं को पहले विद्युत आपूर्ति हमीरपुर द्वारा की जा रही थी।  इसकी क्षमता पूरी न होने के कारण विद्युत आपूर्ति में कई बार व्यवधान आ जाता था और वोल्टेज भी कम हो जाती थी। अतः खग्गल (नालटी) के आसपास की ग्राम पंचायतों के उपभोक्ताओं को विश्वसनीय और गुणवत्तापूर्ण विद्युत आपूर्ति प्रदान करने के लिए स्टेट इलेक्ट्रीसिटी बोर्ड लिमिटेड द्वारा 33 केवी विद्युत उपकेंद्र खग्गल (नाल्टी) के निर्माण का निर्णय लिया गया था। इस विद्युत उपकेंद्र के निर्माण में लगभग दो किलोमीटर नई संचार लाइन भी बनवाई जाएगी। इस उपकेंद्र से छह फीडर मसियाना, नानटी, रोपा, नेरी, झनियारी, तथा एक फीडर अतिरिक्त के रूप में रहेगा। उपकेंद्र के निर्माण पर आठ करोड़ 11 लाख रुपए की लागत आएगी। इस विद्युत उपकेंद्र से क्षेत्र की विद्युत आपूर्ति सशक्त हो जाएगी और कम वोल्टेज की समस्या भी खत्म हो जाएगी। इसके साथ ही संचार एवं वितरण में होने वाली हानियों टी एंड डी लॉसिज में भी कमी आएगी। इस विद्युत उपकेंद्र से तहसील हमीरपुर की छह पंचायतों के 35 गांवों के लगभग 30 हजार लोग लाभान्वित होंगे।

You might also like