हैदराबाद केस… बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ पर नाटक बंद करे सरकार

बिलासपुर – अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद बिलासपुर इकाई ने हैदराबाद में हुए सामूहिक बलात्कार और नृशंस हत्या को लेकर राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में अवेयरनेस प्रोग्राम आयोजित किया। इसमें सदर थाना महिला एसएचओ यशवंत मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित रहे। उन्होंने अपने संबोधन के दौरान लड़कियों को विपरीत परिस्थितियों का सामना करने के लिए विचार रखे। उन्होंने अनेक प्रकार के क्राइम को लेकर लड़कियों को जागरूक किया। उन्होंने कहा की आज के समय में लड़कियों को अपने मूलभूत अधिकारों की जानकारी होनी चाहिए, ताकि वे आने वाले समय में किसी भी कानून से परिचित न रह सके। विद्यार्थी परिषद बिलासपुर इकाई के अध्यक्ष प्रशांत ठाकुर ने कहा कि जब एक रात में नोटबंदी हो सकती है एक रात में सरकार परिवर्तित हो सकती है तो एक दिन में हत्यारों को फांसी क्यों नहीं। बलात्कारी को तारीख की जगह फांसी नहीं दे सकते तो बेटी पढ़ाओ और बेटी बचाओ का नाटक बंद करना चाहिए। प्रशांत ठाकुर ने अपने संबोधन के दौरान कहा कि दोस्तो इनसान बनो अपनी आवाज बुलंद करो गुनाह चाहे जहां हुआ हो चाहे जिस ने किया हो इंसाफ के लिए हमेशा आवाज उठाओ जब समाज में इस तरह के लोग रह रहे हैं जो इस तरह की कुकृत्य घटनाओं को अंजाम देते हैं तो इसमें हम सभी पर भी कहीं न कहीं प्रश्न उठता है। उन्होंने यह भी कहा कि अगर आवाज नहीं उठा सकते तो आवाज उठाने वालों की ताकत बनो, ताकि बलात्कारियों को और हत्यारों को सजा मिल सके। इस कार्यक्रम में विद्यार्थी परिषद के हार के इकाई छात्रा प्रमुख कंचन, रोहित, राहुल, श्वेता, यामिनी, महिमा, शालिनी सहित अनेक कार्यकर्ता मौजूद रहे।

You might also like