एचआरटीसी के पांच ढाबे ब्लैकलिस्ट

यात्रियों की शिकायत के बाद कार्रवाई, खाने की ज्यादा कीमत वसूलने का आरोप

शिमला – यात्रियों से खाने की अधिक कीमत वसूल किए जाने के आरोपों के चलते एचआरटीसी ने अपने पास पंजीकृत पांच ढाबे ब्लैकलिस्ट कर दिए हैं। यहां यात्रियों ने शिकायत की थी, जिसके बाद कार्रवाई की गई है। साथ ही लोगों को कहा गया है कि उन्हें ढाबों पर किसी तरह की दिक्कत पेश आए, तो वह तुरंत इसकी शिकायत करें। हिमाचल पथ परिवहन निगम के निदेशक मंडल ने यात्रियों को उचित दरों पर नाश्ता, दोपहर एवं रात्रि का भोजन उपलब्ध करवाने के लिए एक नीति का अनुमोदन किया है, जिसके अनुसार प्रदेश में लगभग 113 ढाबे आबंटित किए गए हैं। निगम ने ऐसे ढाबों का चयन एवं आबंटन किया है, जहां यात्री उचित दामों पर गुणवत्तापूर्ण भोजन ग्रहण कर सकें। उन्होंने कहा कि समय-समय पर निगम प्रबंधन को यात्रियों और विभिन्न अन्य माध्यमों से भोजन की गुणवत्ता, साफ-सफाई एवं तय सीमा से अधिक मूल्य पर भोजन उपलब्ध करवाने की शिकायतें मिलती रहती हैं। यात्रियों की सुविधा एवं सुरक्षा निगम के लिए सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण है, इसलिए निगम ने गुणवत्ता पर खरा न उतरने पर तुरंत कार्रवाई करते हुए पांच ढाबे ब्लैकलिस्ट किए हैं। इनमें ग्रीन वैली करनाल, फौजी वैष्णव ढाबा कालाअंब, राधिका ढाबा बडुई, तेजू दा ढाबा नेहरिया, मामा रसोई ब्रह्मपुखर शामिल हैं। अपनी हवेली रेस्तरां, हरा बाग, सुंदरनगर को सोमवार को ब्लैकलिस्ट कर दिया गया है। निगम ने सभी यात्रियों से अनुरोध किया है कि यदि इस विषय में उन्हें कोई भी शिकायत हो, तो वे तुरंत बस चालक-परिचालक को बताएं।

…तो यह नंबर घुमाएं

यदि लोगों की समस्या का कोई निदान चालक-परिचालक द्वारा नहीं किया जाता, तो वे अपनी शिकायत मंडलीय प्रबंधक यातायात, मुख्य कार्यालय, शिमला को दूरभाष नंबर 9418000460 पर शिकायत कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त यात्री दूरभाष 0177-2656106 पर प्रबंध निदेशक से भी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं। अफसरों को समय-समय पर ढाबों के निरीक्षण को आदेश दिए गए हैं।

ये हैं ढाबों के रेट

निगम के एक प्रवक्ता ने बताया कि साधारण बसों में यात्रा कर रहे यात्री खाना 60 रुपए, चाय दस रुपए और परांठा 20 रुपए में ग्रहण कर सकता है। इसी प्रकार वॉल्वो एवं वातानुकूलित डीलक्स गाडि़यों में यात्रा करने वाले यात्रियों को खाना 165 रुपए, चाय दस रुपए और परांठा 20 रुपए में मिलेगा।

You might also like