दिल्ली में होगी जयराम कैबिनेट

पहली को मुख्यमंत्री रचेंगे इतिहास, पहली बार प्रदेश से बाहर बैठक

शिमला – जयराम ठाकुर की अगली कैबिनेट बैठक इस बार दिल्ली में होगी। यह पहला मौका है जब कैबिनेट की बैठक के लिए प्रदेश के मंत्री व अधिकारी दिल्ली जाएंगे। सूत्रों के अनुसार पहली फरवरी को वहां पर यह बैठक रखी गई है, जोकि फिलहाल हिमाचल भवन में प्रस्तावित है, लेकिन इसका स्थान बदल भी सकता है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर विधानसभा चुनाव प्रचार के चलते दिल्ली गए हैं। इन दिनों वह दिल्ली में भाजपा प्रत्याशियों के लिए प्रचार कर रहे हैं। उनके साथ यहां से मंत्री भी दिल्ली जाने हैं, लिहाजा सरकार ने मंत्रिमंडल की बैठक ही वहां पर बुला ली है। उम्मीद है कि विधानसभा के बजट सत्र की घोषणा भी सरकार दिल्ली से ही कर देगी, क्योंकि कैबिनट में इसके निर्धारण का मामला जा रहा है। फरवरी महीने में यहां पर बजट सत्र शुरू होना है, जिसकी तारीख समय पर तय करनी जरूरी है, ताकि विधायक तय अवधि से पहले अपने सवाल भेजें और सरकार की ओर से उनके जवाब तैयार रहें। इसके साथ राज्यपाल अभिभाषण को फाइनल करने के लिए भी बैठक में चर्चा होगी। सूत्र बताते हैं कि जीएडी विभाग ने सभी विभागों को मंत्रिमंडल बैठक के लिए अपने एजेंडा भेजने को कहा है। विभाग एजेंडा बनाने में जुटे हैं। विभागीय अधिकारियों को भी इस बात का एहसास नहीं था कि दिल्ली में कैबिनेट की बैठक रखी जा सकती है। सभी लोग यही सोच रहे थे कि मुख्यमंत्री चुनाव प्रचार के लिए गए हैं, लिहाजा अब फरवरी में ही लौटेंगे और इस दौरान यहां पर प्रशासनिक गतिविधियां नहीं होंगी। हालांकि ऐसा नहीं है। मुख्यमंत्री ने सभी को दिल्ली में ही तलब कर दिया है, जहां पर मंत्रिमंडल की बैठक होगी और इसमें कई महत्त्वपूर्ण निर्णय लिए जाएंगे। इस बैठक में नए रोजगार से जुड़े मामलों को लाया जाएगा, वहीं कुछ श्रेणियों के भर्ती एवं पदोन्नति नियमों को रखा जाएगा। साथ ही पूर्ण राज्यत्व दिवस के मौके पर सीएम द्वारा की गई घोषणाओं को भी कैबिनेट में लाया जाना है। इसमें कर्मचारियों व पेंशनरों को डीए की घोषणा भी है। इसके अलावा बताया जाता है कि उद्योग विभाग की नॉलेज पार्टनर कंपनी को भी एक्सटेंशन देने का प्रस्ताव कैबिनेट में आएगा। एक साल पहले अर्नेस्ट एंड यंग कंपनी को नॉलेज पार्टनर लगाया था, जिनका काम अभी भी शेष है, लिहाजा उसे एक्सटेंशन दी जा रही है। उधर शिक्षा, स्वास्थ्य व राजस्व विभाग से जुडे़ कुछ मसलों को भी बैठक में लाया जा रहा है। इतना ही नहीं, आगामी बजट सत्र में जो नए विधेयक सरकार द्वारा लाए जाने हैं, उन पर भी इसी बैठक में चर्चा की जाएगी।

You might also like