मुंबई में छाया सिरमौर का बेटा

नौहराधार के गांव भंगाड़ी के 19 वर्षीय पर्यावरण प्रेमी जयचंद को पर्यावरण संरक्षण में उत्कृष्ट कार्य करने पर मिला सम्मान

नौहराधार – नौहराधार तहसील के छोटे से गांव भंगाड़ी के 19 वर्षीय पर्यावरण प्रेमी जय चंद को मुंबई में पर्यावरण संरक्षण में उत्कृष्ट कार्य करने पर एक कंपनी द्वारा सम्मानित किया गया। बता दें कि राजकीय उच्च पाठशाला चौकर में मात्र 13 वर्ष की आयु में जब जय चंद सातवीं कक्षा का छात्र था तो वह विद्यालय में पांच जून को विश्व पर्यावरण दिवस पर ईको क्लब द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम से ऐसा प्रेरित हुए कि उन्होंने हर वर्ष अपने गांव में ही सड़क के किनारे विभिन्न प्रजातियों के पौधे लगाने प्रारंभ कर दिए। शुरू से ही जय चंद की इन कोशिशों को शायद बाल्यकाल के समय किसी ने अधिक गंभीरता से नहीं लिया गया, मगर धीरे-धीरे जय चंद के पिता रामलाल ने पारिवारिक वित्तीय हालात अच्छे न होने के बावजूद जय चंद को वन्य पौधों के अतिरिक्त फलदार पौधों को लगाने हेतु बीज तथा पौध खरीदने के लिए आर्थिक सहायता दी। दसवीं कक्षा के बाद राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय नौहराधार में तत्त्कालीन राष्ट्रीय सेवा योजना अधिकारी व प्रवक्ता सुरेंद्र पुंडीर ने जय चंद के पर्यावरण संरक्षण के इन प्रयासों को गंभीरता से लिया और जय चंद को विद्यालय की राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवी छात्र-छात्राओं की इकाई का समूह नेता बना दिया। साथ ही भंगाड़ी गांव में जाकर जय चंद के असाधारण कार्यों की एक डॉक्यूमेंट्री भी बना दी। जय चंद ने अपनी बहन व अध्यापकों की सहायता से हिमाचल प्रदेश विज्ञान तकनीकी एवं पर्यावरण विभाग को एक सादे कागज से अपने द्वारा पौधे लगाने की विस्तृत जानकारी दी। गौरतलब है कि दिव्य हिमाचल ने इनके पर्यावरण में उत्कृष्ट योगदान को प्रमुखता से प्रकाशित किया था। तत्त्पश्चात हिमाचल सरकार ने वर्ष 2017 में जय चंद को हिमाचल प्रदेश का सबसे युवा पर्यावरण संरक्षण में उत्कृष्ट योगदान पर पुरस्कार से सम्मानित किया। अभी कुछ दिनों पूर्व जय चंद की कहानी को प्रकाशित करने के लिए देश के सभी मीडिया गु्रप नौहराधार में आकर इनकी पर्यावरण में उत्कृष्ट कार्य को प्रकाशित किया। हाल ही में प्रसिद्ध टाटा एआईए जीवन बीमा कंपनी के सौजन्य से जय चंद को देश के अन्य छह विद्यार्थियों के साथ मुंबई में आयोजित एक कार्यक्रम में रक्षाकरण नायक के खिताब से सम्मानित किया गया। जय चंद के साथ मुंबई गए प्रवक्ता सुरेंद्र पुंडीर ने बताया कि जय चंद तथा पर्यावरण संरक्षण हेतु बैंगलुरु की चार छात्राओं तथा दो अन्य बालकों के असाधारण प्रयासों पर यहां पर रिपब्लिक टीवी ने रक्षाकरण हीरो नामक एक डाक्यूमेंट्री शूट की है जिसे 25 जनवरी को रिपब्लिक भारत टीवी पर दिखाया जाएगा। टाटा जीवन बीमा कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी शशी श्रीवास्तव तथा देश के पर्यावरण प्रेमियों जय चंद के कार्यों की भूरि-भूरि प्रशंसा की। यह अत्यंत गर्व का विषय है कि जहां अन्य सभी विद्यार्थी संपन्न पारिवारिक परिवेश, सुविधा संपन्न एवं आधुनिक सूचना तथा प्रौद्योगिकी, सुव्यवस्थित अंग्रेजी विद्यालयों में शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं, वहीं जय चंद दूरदराज के ग्रामीण परिवेश में सरकारी विद्यालय के छात्र हैं। वर्तमान में जय चंद राजकीय महाविद्यालय संगड़ाह के छात्र हैं तथा वहां भी ईको क्लब के माध्यम से अन्य विद्यार्थियों के साथ महाविद्यालय की बंजर भूमि पर वृक्षा रोपण की योजना बना रहा है। वास्तविक रूप से पर्यावरण संरक्षण हेतु चिंतित, गंभीर स्वभाव के जय चंद प्रदेश सरकार तथा अब टाटा जीवन बीमा कंपनी से प्राप्त सम्मान से प्रसन्न हैं तथा अपनी इस उपलब्धि का श्रेय अपने गुरुजनों व अध्यापक सुरेंद्र पुंडीर को देते हैं। जय चंद की इस उपलब्धि से जहां समूचा क्षेत्र गौरवान्वित हो रहा है, वहीं लोग पर्यावरण प्रेमी जय चंद की इस कामयाबी से प्रेरित हो गए हैं।

You might also like