युवा नफरत, अनिश्चितता के माहौल को दूर करने के लिए एकजुट हों : ममता

कोलकाता –  पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनजी ने रविवार को कहा कि देश के युवाओं को नफरत और अनिश्चितता के माहौल दूर को दूर करने और राष्ट्र के गौरव को बढ़ाने के लिए एकजुट होकर आगे आना चाहिए। सुश्री बनर्जी ने महान उपदेशक और दार्शनिक स्वामी विवेकानंद की जंयती के अवसर पर ट्विटर पर कहा, “स्वामी विवेकानंद की जयंती को ‘राष्ट्रीय युवा दिवस’ के रूप में मनाया जाता है।” मुख्यमंत्री ने कहा, “देश के युवाओं को एकजुट होकर नफरत और अनिश्चितता के माहौल को खत्म करना चाहिए और महान राष्ट्र के गौरव को आगे बढ़ाने में आगे आना चाहिए। आज महान धर्मोपदेशक एवं दार्शनिक स्वामी विवेकानंद जी की जयंती है और हमें स्वामीजी के शांति और सार्वभौमिक भाईचारे के संदेश का पहले से कहीं अधिक अनुसरण करना है।” सुश्री बनर्जी ने कहा, “हम पूरे राज्य में उनकी याद में “विवेक चेतना उत्सव’ को मना रहे हैं।’’ राज्य सरकार रामकृष्ण मठ और मिशन के साथ स्वामी विवेकानंद की 157वीं जयंती को 10 से 12 जनवरी तक तीन दिवसीय विवेक चेतना उत्सव के रूप में मना रही है। राज्य के सभी 341 ब्लॉक, 117 नगर पालिकाओं, छह नगर निगमों, कोलकाता नगर निगम के 144 वार्डों, गोरखा प्रादेशिक प्रशासन (जीटीए) और सभी जिला मुख्यालयों में जुलूस, प्रदर्शनी, गोष्ठियों और स्वामी विवेकानंद पर आधारित क्विज प्रतियोगिताओं और वाद-विवाद, फुटबॉल मैचों और अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रमों के जरिए उनकी जयंती मनाई जा रही हैं। राज्य का युवा कल्याण विभाग इन उत्सवों को आयाेजित कर रहा है। गौरतलब है कि राज्य में वर्ष 2012 से 12 जनवरी को राजकीय अवकाश घोषित किया है।

You might also like