व्यास उत्सव में नन्हे कलाकारों की धूम

पहली सांस्कृतिक संध्या की धार्मिक व हिमाचली गायन प्रतियोगिता में दी शानदार प्रस्तुति

बिलासपुर –बिलासपुर के रौड़ा सेक्टर में स्थित बास्केटबाल मैदान में आयोजित महर्षि वेद व्यास को समर्पित व्यास उत्सव मेला की पहली सांस्कृतिक संध्या नन्हे कलाकारों के नाम रही। धार्मिक गायन ख, ग तथा घ सहित हिमाचली गायन ख वर्ग प्रतियोगिता में नन्हे गायक कलाकारों ने एक से बढ़कर एक भजन व गीत प्रस्तुत किए। नन्हे कलाकारों ने अपनी मधुर आवाज से सबको हैरान कर दिया। धार्मिक गायन ख वर्ग में आराध्या जोशी ने जा रहे हो तो जाओ ब्रज छोड़कर…, अलौकिक ने मेरी बिगड़ी बनाना तेरा काम है…व आराध्या मेरे बांके बिहारी लाल…तथा ग वर्ग में चारु प्रिया ने ओ कान्हा अब तो मुरली की धुन सुना दो…, हिमांशु धीमान ने मां शेरावालिए तेरा शेर आ गया…,दीक्षा ने सांवली सूरत पे मोहन दिल दीवाना हो गया…व सारिका ने शिव कैलाशों के वासी…भजन की प्रस्तुति दी। वहीं, घ वर्ग में अभिषेक कुमार ने रतनो वाजा मारियां…, रोहित ने जोत जलाई…, श्वेत ने मेरे मोहन कुंडला वालया…तथा हिमाचली गायन ख वर्ग में आराध्या शर्मा ने भला सिपाहिया डोगरिया…, अलौकिक ने ठंडी-ठंडी हवा झूलदी… जैसे पहाड़ी गीत प्रस्तुत किए।  निर्णायक मंडल रंगकर्मी अभिषेक डोगरा, गायक अक्षय शर्मा व सुभाष ने प्रतिभागियों की प्रतिभा को परखा। व्यास उत्सव मेले की पहली सांस्कृतिक संध्या में सेवानिवृत्त प्रधानाचार्या कंचन माला ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। उन्होंने दीप प्रज्वलित कर संध्या का आगाज किया। व्यास उत्सव समिति के पदाधिकारियों ने मुख्यातिथि को शॉल, टोपी व व्यास प्रतिमा देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर व्यास उत्सव समिति के अध्यक्ष कमलेंद्र कश्यप, चेयरमैन विजयराज उपाध्याय, आयोजन समिति के चेयरमैन चमन गुप्ता, वायस चेयरमैन संतोष जोशी, चीफ कंट्रोलर अविनाश कपूर, कोषाध्यक्ष राज कुमार, सचिव तरुण टाडू, प्रवीण शर्मा, सांस्कृतिक कमेटी के चेयरमैन तेजस्वी शर्मा, सुशील पुंडीर व कृष्ण कांत सहित कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।

You might also like