हद है! 8 माह का बिल एक साथ

शहर में पानी के बिलों ने उड़ाए उपभोक्ताओं के होश, लोगों में बढ़ा रोष

शिमला –राजधानी में पानी के भारी-भरकम बिलों से आम जनता को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। जल प्रबधंन क पंनी द्वारा उपभोक्ताओं को जो बिल जारी किए गए हैं। उन्हें देखकर उपभोक्ताओं के होश उड़ गए हैं। दरअसल शिमला जल प्रबंधन कंपनी ने शहर के उपभोक्ताओं को एक साथ 8 महीने के पानी के बिल जारी किए हैं। बिल देखकर उपभोक्ता सकते में आ गए हैं कि आखिर कैसे वे 8 महीनों में लाखों रुपए का पानी पी गए हैं। जल प्रबंधन कंपनी की ओर से उपभोक्ताओं को एक लाख से लेकर 7 लाख रुपए के भारी-भरकम बिल जारी किए गए हैं, जिससे शहर में हड़कंप मचा हुआ है। उपभोक्ता इसे लेकर जल प्रबंधन कंपनी कार्यालय पहुंच रहे हैं। कंपनी के इस कारनामे ने जनता की परेशानी बढ़ा दी है। जल प्रबंधन कंपनी की ओर से घरेलू व कामर्शियल उपभोक्ताओं को अप्रैल से लेकर अक्तूबर महीने के बिल थमाए गए हैं, जिन्हें 4 फरवरी तक उपभोक्ताओं को जमा करवाना होगा। पानी के बिलों के लिए शहरवासियों को पेयजल कंपनी के चक्कर काटने पड़ रहे हैं। इन्हें न तो बिल आ रहे हैं और न ही मोबाइल मैसेज। पेयजल कंपनी एक ओर कई वार्डों में नवंबर 2019 तक के बिल जारी कर रही है तो दूसरी ओर न्यू शिमला, कुसुम्पटी, विकासनगर, पंथाघाटी, पटियोग समेत कई वार्डों में सैकड़ों उपभोक्ता ऐसे भी हैं जिन्हें अगस्त 2018 के बाद से बिल नहीं मिले हैं। कंपनी ने दावा किया था कि सभी उपभोक्ताओं को घर पर ही बिल जारी होंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ है। कंपनी का कहना है कि जिन लोगों को बिल नहीं मिले हैं, वे अपना पुराना बिल और मीटर की फोटो क्लिक कर सब्जी मंडी कार्यालय या वार्ड दफ्तर में पहुंच सकते हैं। सब्जी मंडी दफ्तर से तुरंत नया बिल मिलेगा। वहीं वार्ड कार्यालय में यह तीन चार दिन बाद उपलब्ध होगा। ऐसे लोगों के बिल में मोबाइल नंबर भी अपडेट किए जा रहे हैं। कई उपभोक्ताओं व सरकारी संस्थानों को 6 से 7 लाख रुपए का पानी का बिल भी जारी किया गया है, जिसे दुरुस्त करवाने के लिए अब लोग कंपनी कार्यालय के चक्कर काट रहे हैं।

You might also like