हरियाणा में सरकारी स्कूलों की शिक्षा नीति बनी खिलवाड़

कैथल – गुरुवार को गांव पाई के ग्रामीण पाई के राजकीय स्कूलों में अध्यापकों की भारी कमी व अव्यवस्था की शिकायत  को लेकर खंड-शिक्षा अधिकारी से मिले। ग्रामीणों ने शिकायत की कि गांव पाई में पुराना बस अड्डा स्कूल में केवल एक अध्यापक है और वह अध्यापक भी कभी वोट बनाने, बैंक कार्य, मीटिंग आदि में व्यस्त रहता, जिसके कारण बच्चों की शिक्षा व्यवस्था बिगड़ी हुई है। न ही बच्चों के बैठने के लिए बैंच की कोई व्यवस्था है और न ही कोई चपरासी है। सीनियर सेकेंडरी स्कूल में भी विज्ञान संकाय में अध्यापकों की कमी है, जिसके कारण गरीब आदमी अपनी आर्थिक तंगी के बाद भी प्राइवेट स्कूल में बच्चे पढ़ाने को मजबूर हो जाते हैं। ग्रामीणों ने शिक्षा अधिकारी से निवेदन किया कि अगर हमारे गरीब बच्चों की समस्याओं का समाधान नहीं किया गया, तो हम पंचायत से आग्रह कर स्कूल को ताला लगाकर अपने बच्चों को घर पर रखने के लिए मजबूर होंगे। इस अवसर पर बलवान, समसेर, बिरभान, नरेश, नेसा, सुभाष व जयपाल आदी ग्रामीण पहुंचे।

You might also like