31 को बंद होंगे एलआईसी के प्लान

शिमला मंडल के वरिष्ठ मंडलीय प्रबंधक अरुण राजदान ने दी जानकारी, नए सिरे से लांच होंगे नए प्लान

पालमपुर  –भारतीय जीवन बीमा निगम के दो दर्जन से अधिक लोकप्रिय प्लान 31 जनवरी को बंद होने जा रहे हैं। यह जानकारी भारतीय जीवन बीमा निगम शिमला मंडल के वरिष्ठ मंडलीय प्रबंधक अरुण राजदान ने पालमपुर में एलआईसी अधिकारियों व अभिकर्ताओं के साथ बैठक के दौरान दी।  शाखा के चीफ मैनेजर सतीश सूद, मैनेजर सेल्स देशराज ठाकुर व शाखा प्रबंधक विक्रम चंद कौंडल की उपस्थिति में उन्होंने कहा कि आईआरडीए के दिशा-निर्देशों के अनुसार  एलआईसी ये सभी प्लान बंद करने जा रही है। इसके उपरांत पहली फरवरी से एलआईसी के प्लान नए सिरे से लांच होंगे।  उन्होंने अभिकर्ताओं को 31 जनवरी तक अधिक से अधिक लोगों को मौजूदा प्लान देकर उनके भविष्य को बेहतर बनाने में मदद करने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि भारतीय जीवन बीमा निगम विश्व का सबसे बड़ा व विश्वसनीय बीमा कंपनी के रूप में अपनी पहचान स्थापित कर चुका है। स्थापना के 63 वर्ष से अब तक जीवन बीमा निगम लोगों को विश्वसनीय सेवाएं दे रहा है। 2018-19 वित्तीय वर्ष में ही भारतीय जीवन बीमा निगम ने 5.61 लाख करोड़ आय अर्जित की है। इसी वित्तीय वर्ष के दौरान जीवन बीमा निगम ने 142192 करोड़ प्रथम वर्ष प्रीमियम अर्जित किया है। वहीं 2.59 करोड़ के दावों के अंगेस्ट 1.63 लाख करोड़ रुपए उपभोक्ताओं को जारी किया है। अरुण राजदान ने बताया कि जीवन बीमा निगम ने भारत सरकार को डिविडेंट के रूप में 2610.74 करोड़ रुपए प्रदान किए हैं। शाखा पालमपुर के चीफ मैनेजर सतीश सूद ने विकास वाहिनी का आह्वान किया कि वह निगम के सभी ग्राहकों के बैंक अकाउंट और मोबाइल नंबर उनकी पालिसी में अपडेट करवाएं। इस अवसर पर अरुण राजदान ने पालमपुर शाखा के विकास अधिकारी मनोज कुंवर, पवन कौशल व संजीव दरोच को शाखा में अग्रणी रहने  व शाखा के शतकवीर अभिकर्ता  मदन लाल शर्मा, शिव कुमार, मदन लाल, बांकु राम, हरबंस कुमार, रणजीत सिंह राणा, कुष्ण कुमार को सम्मानित किया। उन्होंने शाखा के प्रीमियम में टोपर अभिकर्ता चंचल शर्माएसीमा चौधरी संजय सूद व लता देवी के कार्य को भी सराहा।

 

You might also like