अखिल भारतीय पुलिस कुश्ती का शुभारंभ

चंडीगढ़ – राज्यपाल हरियाणा सत्यदेव नारायण आर्य मुख्यातिथि की घोषणा के साथ ही हरियाणा पुलिस परिसर के वच्छेर स्टेडियम मधुबन में आयोजित हो रही 68वीं अखिल भारतीय पुलिस कुश्ती समूह प्रतियोगिता का विधिवत शुभारंभ हो गया। 24 से 28 फरवरी तक चलने वाली इस पांच दिवसीय प्रतियोगिता में विभिन्न राज्य एवं अर्धसैनिक बलों से 36 टीमों के 2232 खिलाड़ी भाग ले रहे हैं। इनमें 576 महिला खिलाड़ी भी शामिल हैं। सभी टीमों ने शुभारंभ समारोह में मार्च पास्ट में भाग लिया। मंच के सामने से गुजरते हुए मुख्य अतिथि का अभिवादन किया। डीजीपी हरियाणा मनोज यादव ने मुख्य अतिथि को स्मृति चिन्ह भी भेट किया। मुख्य अतिथि ने अपने संबोधन में कहा कि शिक्षा के साथ साथ जीवन में आगे बढ़ने के लिए खेल भी महत्तवपूर्ण है। हरियाणा खेलो का हब है। खेल व पुलिस आज एक दुसरे के पूरक हैं। पुलिसबलों ने देश को अनेक प्रतिभाशाली खिलाड़ी दिए हैं, जिन्होंने पदक जीतकर देश का गौरव बढ़ाया है। उन्होने कहा कि पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों को विकट परिस्थितियों में काम करना पड़ता है। ऐसे में जवानों के लिए खेल प्रतियोगिताएं व प्रतिस्पर्धाएं बहुत जरुरी होती है इस से कर्मचारी तनावमुक्त होकर अपनी डयूटी का निर्वहन अच्छे से करने में सक्षम बनता है। खेल आयोजनों से पुलिस जवनों का मनोबल बढ़ता है। खेलों से टीम भावना के साथ साथ कर्त्तव्यपरायणता की भावना विकसित होती है। खेल व्यक्ति को अनुशासन सिखाता है और अनुशान देश को महान बनाता है। स्वस्थ शरीर में स्वस्थ मस्तिष्क का निवास होता है। खेलों में प्रदेश की बेटियों ने भी अंतराष्ट्रीय स्तर पर देश का नाम रोशन किया है। उन्होनें से अपने बच्चों को खेलों में भाग लेने के लिए प्रेरित करने की अपील की, ताकि उनका शारीरिक व मानसिक विकास हो और वे देश की उन्नति  में अपना योगदान दे सके। हरियाणा पुलिस महानिदेशक मनोज कुमार यादव ने मुख्य अतिथिए निर्णायक मंडल और भाग ले रही टीमों का स्वागत करते हुए कहा कि इस प्रतियोगिता में बॉंक्सिंग, बॉडी बिल्डिंग, कबड्डी, वेटलिफ्ंिटग व कुश्ती सहित पांच मुख्य मुकाबले होंगे, जिनमें 24 राज्यों, चार केंद्र शासित प्रदेशों व आठ अर्धसैनिक बलों के खिलाड़ी अपने राज्य और संस्था के गौरव के लिए अपने प्रदर्शन करेंगे।

You might also like