आलू-प्याज-टमाटर के दाम बढ़ने का तुरंत लगेगा पता

नई दिल्ली – आलू, प्याज और टमाटर के दाम मंडियों तेजी से बढ़ने या घटने की स्थिति में राज्यों का आगाह करने के लिए बुधवार को एक पोर्टल लांच किया गया ताकि कीमतों के काबू से बाहर जाने से पहले ही उसे नियंत्रित किया जा सके। खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने बुधवार को ‘ऑपरेशन ग्रीन्स स्कीम’ के तहत ‘मार्केट इंटेलिजेंस एंड अर्लि वार्निंग सिस्टम’ (एमआईईडब्ल्यूएस) पोर्टल लांच किया। इसमें आलू, प्याज और टमाटर की खेती करने वाले राज्यों के साथ ही इनकी ज्यादा खपत वाले राज्यों की मंडियों में भी कीमतों पर नजर रखी जायेगी। साथ ही इनकी बुआई और पैदावार संबंधी आंकड़े भी उपलब्ध होंगे। इस पोर्टल के लिए ‘एगमार्कनेट’ द्वारा 128 मंडियों की कीमत उपलब्ध कराई जाएगी। आंकड़े हर सप्ताह अपडेट किए जाएंगे। इस पर तीनों ऊपजों के साप्ताहिक, मासिक, तिमाही, छमाही, वार्षिक और तीन साल के ग्राफ और आंकड़े उपलब्ध होंगे। पोर्टल मूल्य के साथ ही बुआई और पैदावार के आंकड़ों को मिलाकर अगले तीन महीने में कीमतों में संभावित बदलाव के बारे में भी जानकारी देगा तथा कीमतों के तेजी से घटने या बढ़ने की स्थिति में अलर्ट जारी कर राज्यों को आगाह करेगा। श्रीमती बादल ने बताया कि इससे राज्यों को अपने यहां कीमतें नियंत्रित करने में मदद मिलेगी। वे समय रहते आपूर्ति सुनिश्चित कर सकेंगे। उन्होंने बताया कि इस पोर्टल का उद्देश्य किसानों के साथ ही खाद्य प्रसंस्करण उद्योग के हितों की रक्षा भी है। चिप्स, आलू पाउडर, सॉस इत्यादि बनाने वाले उद्योगों को भी यह पता चल सकेगा कि किन उत्पादों की कीमत किस मंडी में कितनी है। केंद्रीय मंत्री ने बताया कि ये आंकड़े आम लोगों के लिए भी उपलब्ध होंगे। इस मौके पर खाद्य प्रसंस्करण उद्योग सचिव पुष्पा सुब्रह्यण्यम और राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन महासंघ के अतिरिक्त प्रबंध निदेशक सुनिल कुमार सिंह भी मौजूद थे।

You might also like