एक हार से टीम खराब नहीं हो जाती : विराट

वेलिंगटन – भारतीय कप्तान विराट कोहली ने न्यूजीलैंड के हाथों पहला क्रिकेट टेस्ट सवा तीन दिन में 10 विकेट से गंवाने के बावजूद टीम के बचाव में सोमवार को कहा कि एक हार से टीम खराब नहीं हो जाती। विराट ने संवाददाता सम्मेलन में भारतीय टीम के वेलिंगटन टेस्ट में खराब प्रदर्शन को लेकर हो रही आलोचनाओं पर कहा,“मैं मानता हूं कि हम इस मैच में बिल्कुल भी प्रतिस्पर्धी नहीं थे। हमने पहली पारी में खराब बल्लेबाजी की और खुद को निराश किया। लेकिन साथ ही मेरा यह मानना है कि इस एक हार से हमारी टीम खराब नहीं हो जाती और हमारी सोच वही रहेगी जो पहले थी।” भारत ने इस मुकाबले की दोनों पारियों में बल्लेबाजी में खासा निराश किया और भारतीय बल्लेबाजों को न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाजों को खेलने में परेशानी का सामना करना पड़ा। भारत ने पहली पारी में 165 और दूसरी पारी में 191 रन बनाए। कप्तान ने इस प्रदर्शन पर कहा,“हमें पता है कि हम खराब खेले हैं। लेकिन बाहर जो लोग हमारे प्रदर्शन को लेकर बातें कर रहे हैं हम उस पर ज्यादा ध्यान नहीं दे रहे हैं। यदि आप बाहर की बातों पर ज्यादा ध्यान देंगे तो वही सातवें-आठवें नंबर पर पहुंच जाएंगे। हम इस हार को भी बहुत ज्यादा तवज्जो नहीं देंगे और अपने खेल पर ध्यान लगाएंगे। हम सकारात्मक सोच के साथ वापसी करेंगे और दूसरे टेस्ट मैच में जीत हासिल करेंगे।” विराट ने कहा कि टीम ने पहली पारी में काफी खराब बल्लेबाजी की और स्कोर बोर्ड पर इतना स्कोर नहीं टांगा जिससे गेंदबाजों को न्यूजीलैंड पर दबाव बनाने का मौका मिल सकता। उन्होंने कहा,“हम इस मैच में बिल्कुल भी प्रतिस्पर्धी नहीं थे। हम पहले भी हारे हैं लेकिन हमने हार में संघर्ष दिखाया है। पहली पारी के प्रदर्शन ने हमें बैकफुट पर डाल दिया। लेकिन हमें खुद पर भरोसा है और हम वापसी करेंगे।” कप्तान ने साथ ही कहा,“इस मैच में हमने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं किया और इस बात को स्वीकर करने में मुझे कोई शर्म नहीं है। जब तक हम अपनी गलतियों को स्वीकार नहीं करेंगे तब तक हम आगे नहीं बढ़ पाएंगे। हम अपनी हार का स्वीकारते है और अब दूसरे टेस्ट मैच में सकारात्मक सोच के साथ उतरेंगे। अगले मैच से पहले चार दिन का समय है और इस मैच ने हमारे सामने एक चुनौती पेश की है कि हम वापसी करें।” विराट ने न्यूजीलैंड की गेंदबाजी की भी सराहना करते हुए कहा,“उनके गेंदबाजों ने दोनों पारियों में शानदार प्रदर्शन किया। उन्होंने बल्लेबाजों के दिमाग में दबाव बनाया और उन्हें गलतियां करने पर मजबूर किया। हमारे बल्लेबाजों ने भी उन्हें दबाव बनाने का मौका दिया जिससे हमारा प्रदर्शन खराब होता चला गया।” इस मैच में दो और 19 रन बनाने वाले विराट से जब उनके प्रदर्शन के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा,“मेरी बल्लेबाजी में कोई खराबी नहीं है और मैं अच्छा खेल रहा हूं। कई बार स्कोर से चीजों के बारे में पता नहीं चल पाता है। मुझे बेसिक्स पर डटे रहना है और कोशिश करनी है कि अगले टेस्ट में मैं टीम की जीत में अपना योगदान दूं।” टॉस को लेकर विराट ने कहा,“टॉस ने मैच में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। पहली पारी में हमारी बल्लेबाजी खराब रही और यदि हम 220-230 रन बना लेते तो शायद नतीजा कुछ और होता। पहली पारी में हमने जिस तरह बल्लेबाजी की और फिर गेंदबाजी में भी हम न्यूजीलैंड के आखिरी तीन विकेट जल्द ही नहीं गिरा सके उससे टीम पर दबाव बढ़ा। गेंदबाजी में हमने शुरुआत अच्छी की थी और उनके सात विकेट गिरा दिए थे लेकिन आखिरी के तीन विकेट और इन तीनों बल्लेबाजों द्वारा बनाए गए 120 रन ने हमें मुकाबले से दूर कर दिया।” उन्होंने कहा,“हमने मुकाबले में अच्छा प्रयास किया लेकिन सफल नहीं हो सके। हमें और भी संतुलित होकर खेलना होगा। गेंदबाजों ने अपनी भूमिका निभाई और हम इस हार से टीम के खिलाड़ियों को दोष देकर उनपर ज्यादा दबाव नहीं डाल सकते। पृथ्वी शॉ ने इससे पहले विदेशी जमीन पर दो मैच ही खेले हैं। वह अच्छे बल्लेबाज हैं। हमें उन पर दबाव नहीं बनाना चाहिए। मुझे यकीन है कि वह अगले मैच में शानदार वापसी करेंगे। ” विराट ने कहा,“मयंक अग्रवाल ने दोनों पारियों में शानदार बल्लेबाजी की। मयंक और अजिंक्या रहाणे ने दोनों पारियों में संतुलित होकर बल्लेबाजी की। हमें आगे के मुकाबले के लिए बल्लेबाजी में सुधार करना होगा और अपनी क्षमता के अनुरुप बल्लेबाजी करनी होगी।

You might also like