एलपीयू में एक्सपर्ट गेस्ट लेक्चर

जालंधर – ‘एक्सपर्ट गेस्ट लेक्चर’ शृंखला के तहत लवली प्रोफैशनल यूनिवर्सिटी (एलपीयू) के स्कूल ऑफ हयुमैनिटीज़ ने बुधवार को जालंधर के डिप्टी कमिश्नर (आईएएस) विरेंद्र कुमार शर्मा को विश्वविद्यालय के बलदेव राज मित्तल ऑडिटोरियम में आमंत्रित किया। इस दौरान उन्होंने छात्रों से ‘गुड गर्वनैन्स एंड सिविल एडमिनिस्ट्रेशन द चेंजिंग डायनैमिक्स’ पर बात की। विद्यार्थियों के साथ बातचीत के दौरान उपायुक्त शर्मा ने साझा किया कि वर्तमान में शासन करना अत्यंत सरल है क्योंकि समूचा विश्व सिमट कर इंटरनेट क्रांति के कारण लघु रूप ले चुका है। विद्यार्थियों को बताया कि वे कभी पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन या पॉलिटिकल साईंस के स्टूडेंट नहीं रहे हैं फिर भी उन्होंने विभिन्न क्षेत्रों के विद्यार्थियों के प्रश्नों के उत्तर बेहतरीन ढंग से दिए। पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन के एक विद्यार्थी के न्यू पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन (एनपीए) के बारे में प्रश्न के लिए उन्होंने कहा कि प्रशासन वह होता है, जिसके तहत हर प्रकार के व्यक्ति को संतुष्टि मिलती है, चाहे वह अमीर हो या गरीब। एक प्रशासक को मिलने के लिए किसी के लिए भी कोई बाधा नहीं होनी चाहिए। क्योंकि प्रशासन पब्लिक वेलफेयर के लिए ही होता है। शर्मा ने कहा कि सिविल अधिकारी केवल देश के कानून के अनुसार ही कार्य करते हैं। स्कूलों में मिड-डे मीलस तथा राईट टू एजुकेशन जैसी परियोजनाओं का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि अधिकारी बिना कानून को बदले सहयोग करते हैं। यहां तक  कि किसी भी राजनीतिक दल के मंत्री भी संविधान द्वारा रचित कानून के दायरे में रहकर ही कार्य करते हैं।

You might also like