कमरूनाग के पहुंचते ही बरसी अमृत की बूंदें

अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव को छोटी काशी पहुंचे बड़ादेव, कड़क धूप में एकदम छाए बादल

मंडी – अंतरराष्ट्रीय मंडी शिवरात्रि महोत्सव 2020 में शिरकत करने के लिए जनपद के बड़ादेव कमरूनाग मंडी पहुंच गए हैं। उनके मंडी पहुंचने के साथ ही मंडी शिवरात्रि के कारज शुरू हो गए हैं। अपने धाम से एक हफ्ते के सफर के बाद गुरुवार दोपहर बाद करीब तीन बजे बड़ादेव कमरूनाग मंडी पहुंचे। आसमान से छिटपुट गिर रही अमृत समान बारिश की बूंदों के बीच बड़ा देव का मंडी में आगमन हुआ, जिन्हें देखकर हर कोई निहाल हो उठा। बड़ा देव के स्वागत को मंडी शहर के लोग उमड़ आए। सबसे पहले जिला प्रशासन की ओर से तैनात स्वागत कमेटी द्वारा पुलघराट के पास बड़ादेव का राजदेवता की चांदी की छडि़यों के साथ परंपरागत ढंग से स्वागत किया गया। वहीं राजदेवता माधोराय के मंदिर में मेला कमेटी अध्यक्ष उपायुक्त मंडी ऋ ग्वेद ठाकुर ने इसके बाद बड़ादेव का स्वागत किया। बड़ादेव ने इसके बाद राजमाधव की पूजा अर्चना भी की। इसके पश्चात बड़ादेव भवानी पैलेस में राजा से मिलने पहुंचे। जहां पर राजा अशोक पाल सेन ने उनका स्वागत किया। राजा के बेहड़े में कुछ देर रुकने के बाद बड़ादेव टारना में माता श्यामाकाली के मंदिर के लिए रवाना हो गए। जहां वह शिवरात्रि के दौरान विराजमान रहेंगे। वहीं बड़ा देव के स्वागत को सैकड़ों लोग भी पहुंचे। राजमाधव मंदिर और राजा का मैहल लोगों से भरा रहा। बड़ा देव जब आराम करने के लिए कुछ देर के लिए राजा बेहडे़ में आराम किया तो बड़ी संख्या में लोगों ने उनके आगे शीश नवाकर आशीर्वाद लिया। इस अवसर पर बड़ा देव के गूर नीलमणि ने कहा कि देवता ने पूरे जनपद को अपना आशीर्वाद दिया है। उन्होंने कहा कि पूरे महोत्सव के दौरान मौसम साफ  बना रहे इसके लिए बड़ा देव से प्रार्थना की गई है।

बड़ादेव के पहुंचते ही घिर आए बादल

गुरुवार को मंडी में मौसम दिन भर साफ बना रहा और कड़क धूप खिली रही, लेकिन जैसे ही बड़ा देव कमरूनाग मंडी शहर में पहुंचे तो आसमान बादलों से घिर आया। कुछ देर में आसमान से हल्की हल्की बूंदें भी गिरना शुरू हो गईं। जब बूंदें गिर रही थीं तो उस समय आसमान में बादल में छंट चुके थे। जिसे देखकर लोग हैरान रह गए और सबका यही कहना था कि बारिश की बूंदें बड़ादेव कमरूनाग के आशीर्वाद के रूप में गिर रही हैं।

राजा के बेड़े में भीड़ से बढ़ी मुश्किलें

बड़ा देवकमरूनाग जब मंडी पहुंचे तो बड़ी संख्या में लोग उमड़ पडे़। लोग उनका आशीर्वाद लेने के साथ मोबाइल फोन से उनके फोटो लेने और वीडियो में बनाने में लगे रहे। जिससे कई बार बड़ा देव कमरूनाग के साथ चल रहे कारदारों को लोगों से पीछे हटने का आग्रह करना पड़ा। राजमाधव मंदिर के बाद राजा के बेडे़ भी ऐसी ही दिक्कत पेश आई।

You might also like