करतारपुर गलियारा हरगिज बंद नहीं होने देंगे

पंजाब विधानसभा में सीएम अमरेंदर की भारत और पाकिस्तान सरकारों से अपील, गुरुद्वारों को खोलने के लिए करें काम

चंडीगढ़ – पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंदर सिंह ने पाकिस्तान के नापाक मंसूबों पर निगरानी रखने की जरूरत के साथ मंगलवार को यह बात साफ  की कि सुरक्षा की चिंताओं की परवाह किए बगैर गुरुद्वारा दरबार साहिब के ‘खुले दर्शन दीदार’ के लिए करतारपुर गलियारा सदा खुला रहेगा। पंजाब विधानसभा में अपने बयान में मुख्यमंत्री ने कहा ‘हम करतारपुर गलियारा बंद नहीं होने देंगे’। कैप्टन अमरेंदर सिंह ने कहा करतारपुर साहिब गलियारा खुला है, क्योंकि हम चाहते थे कि यह गलियारा हरेक पंजाबी चाहता था और रोज़ाना इससे ननकाना साहिब, पंजा साहिब और अन्य गुरुधामों के दर्शनों के लिए अरदास करता था। उन्होंने भारत और पाकिस्तान की सरकारों से अपील की कि वह इन गुरुद्वारों को भी खोलने के लिए काम करें। करतारपुर गलियारे के द्वारा खतरे की संभावना संबंधी डीजीपी द्वारा दिए हालिया बयान पर हुई आलचोना के जवाब में बोलने वाले कैप्टन अमरेंदर सिंह ने पहले स्पीकर को गुजारिश की कि वह प्रश्न काल से पहले इस मुद्दे पर अपना बयान देना चाहते हैं। डीजीपी द्वारा श्री करतारपुर साहिब से संबंधित सुरक्षा के मुद्दे संबंधी दिए गए बयान पर विभिन्न व्यक्तियों और संस्थाओं द्वारा दिए गए बयानों संबंधी मुख्यमंत्री ने कहा कि इन प्रतिक्रियाओं को पूरी तरह टाला जा सकता था। कैप्टन  सिंह ने कहाए डीजीपी ने अफसोस ज़ाहिर कर दिया है, हरेक व्यक्ति से गलती हो सकती है। यहां तक कि मैं भी गलती कर सकता हूँ, हम सभी मानवीय जीव हैं। उन्होंने विरोधियों से पूछा कि उनमें से कोई यह दावा करे कि उसने गलतियाँ नहीं की। उन्होंने आगे कहाए ष्ष्हम सभी से गलतियाँ होती हैं। अब यह मामला ख़त्म हो गया है और अब हमें शान्ति बहाली पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। पंजाब बड़े बुरे दौर से गुजऱा है जिस कारण हम नहीं चाहते कि पलट कर वैसा समय आए। उन्होंने कहा कि राज्य में आतंकवाद के दिनों के दौरान 35000 पंजाबियों और 1700 पुलिस कर्मियों ने अपनी जानें गवाईं थीं। इसके अलावा सैनिकों ने अलग जानें गवाईं। हम सभी की जि़म्मेदारी बनती है यह यकीनी बनाया जाये कि यह सब कुछ पलट कर न घटे। मुख्यमंत्री ने सम्मानयोग सदन के ज़रिये पंजाब के लोगों को विश्वास दिलाते हुए कहाए ष्ष्हम सभी गलियारे के खुलने से बहुत खुश हैं और साझी कोशिशों के लिए धन्यवाद करते हैं। उन्होंने ऐलान किया कि गलियारा सदा खुला रहेगा चाहे कोई भी चिंता रहें। कैप्टन  सिंह ने कहा मेरी सरकार करतारपुर गलियारा खुलवाने के फैसले का हिस्सा थी। नवंबर 2019 में श्रीगुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के मौके पर खुले श्री करतारपुर साहिब के गलियारे के काम को तय और रिकॉर्ड समय में पूरा करनेए सुरक्षा का बुनियादी ढांचा स्थापित करने आदि के लिए मेरी सारी सरकार समेत मंत्रियों, विभिन्न विभागों के अधिकारियों ने केंद्र सरकार के साथ मिलकर दिन-रात काम किया।

You might also like