छात्रा ने निगल लीं आयरन की 11 गोलियां

आदर्श स्कूल गोहर में पेश आया मामला, नेरचौक रैफर की आरती की हालत में सुधार

गोहर  – उपमंडल मुख्यालय की राजकीय आदर्श वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला गोहर की एक स्कूली छात्रा ने आयरन की एक्सेस गोलियां खा लीं, जिससे स्कूल में ही उसकी हालत बिगड़ गई। शिक्षकों ने मामले की भनक लगते ही उसे उपचार के लिए सिविल अस्पताल गोहर पहुंचाया। ड्यूटी पर तैनात डा. रजत शर्मा ने स्कूली बच्चे की बिगड़ती हालत देखकर प्राथमिक उपचार के बाद उसे लाल बहादुर शास्त्री मेडिकल कालेज एवं अस्पताल नेरचैक रैफर कर दिया है। जहां उसकी हालत में सुधार बताया जा रहा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार आरती (15) जो राजकीय आदर्श वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला गोहर में दसवीं कक्षा में पढ़ती है। आरती ने स्कूल में शिक्षकों द्वारा आयरन की करीब 11 गोलियां एक साथ खा लीं। इन गोलियों का एक साथ सेवन करने के बाद थोड़ी देर में उसकी हालत नाजुक हो गई। जब उसकी हालत लगातार बिगड़ने लगी तो उसके सहपाठियों ने मामला शिक्षकों तक पहुंचा दिया। स्कूली शिक्षकों ने तुरंत लड़की को उपचार के लिए सिविल अस्पताल गोहर पहुंचाया, जहां से उसे मेडिकल कालेज एवं अस्पताल नेरचौक रैफर कर दिया है। लड़की के पिता मायाराम ने बताया कि अब लड़की की हालत में सुधार है। डा. रजत शर्मा ने स्कूली छात्रा द्वारा ली गई आयरन की एक्सेस डोज की पुष्टि की है। उधर प्रधानाचार्य प्रभुदयाल ने स्वीकार किया कि स्कूली छात्रा ने आयरन की एक्सेस डोज ली है। संबंधित शिक्षक से मामले को लेकर एक्सप्लेनेशन कॉल कर दी गई है। तीन दिनों के भीतर संतोषजनक जवाब न मिलने की स्थिति में उनके विरुद्ध नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि स्कूली शिक्षक सरकारी फरमान पर अमल करते हुए यदि बच्चों को अपने सामने दवाई खिलाएं तो ऐसे मामले प्रकाश में आने का मतलब ही पैदा नहीं होता। शिक्षक आनन-फानन में बच्चों को दवाइयां वितरित करके अपनी बला तो टाल देते हैं, लेकिन उन्हे अभी तक यह मालूम नहीं कि उन्हें सरकारी फरमान के मुताबिक दवाई बांटने के बजाय सामने खिलानी पड़ती है।

क्लास मानीटर के पास दे दी थी दवाइयां

स्कूल में तैनात शिक्षक राकेश कुमार का कहना है कि वह अक्कर आयरन की गोलियों का वितरण संबधित क्लास इंचार्ज के माध्यम से ही किया करते थे, लेकिन इस दिन स्कूल में अधिक व्यस्तता होने की वजह से उन्होंने क्लास मानीटर के पास यह कहकर गोलियां दे दीं कि इन्हें अपने क्लास इंचार्ज के पास दे दो। इसी बीच स्कूली छात्रा ने आयरन की एक्सेस डोज ले ली, जिसका उन्हें खेद है।

You might also like