जनता को भाषण नहीं, चाहिए बेहतर शासन

चंडीगढ़  – पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने आरोप लगाया है कि गठबंधन सरकार ‘लुक बिजी, डू नथिंग’ की नीति पर काम कर रही है। सरकार अपने चुनावी वादों को पूरा करने की बजाय कोरी भाषणबाजी कर रही है। उन्होंने कहा कि जनता को भाषण की नहीं, शासन की जरूरत है। सरकार बुनियादी मुद्दों पर काम करने की बजाय, भाषणबाजी को ही उपलब्धि के तौर पर पेश कर रही अपने आवास पर प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि आज प्रदेश का किसान मुश्किल में है। पिछले दिनों हुई ओलावृष्टि से उसे भारी नुकसान हुआ, लेकिन आज तक स्पेशल गिरदावरी करवाकर, उसे उचित मुआवज़ा नहीं दिया गया। सरकार किसानों को कोई राहत देने की बजाय खेती को महंगा करने में लगी है। ट्यूबवैल क्नेक्शन के नाम पर हर किसान से लाखों रुपये की लूट की जा रही है। जो कनेक्शन कांग्रेस सरकार में महज़ 10 हज़ार रुपये में दिया जाता था, अब उसके लिए दो लाख रुपये तक लिए जाते हैं। एक तो पहले ही किसानों को उनकी फसल का दाम नहीं मिल रहा। दूसरी तरफ उनके साथ घोटाले पर घोटाले हो रहे हैं। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि एसीएस स्तर की जांच में साफ हो गया है कि धान ख़रीद में 90 करोड़ का घोटाला हुआ है। आरटीआई से मिली जानकारी से पता चला है कि ये घोटाला सैंकड़ों-हज़ारों करोड़ का है। बावजूद इसके सरकार किसी पर कार्रवाई करने की बजाए लीपापोती में लगी है। धान घोटाले को लेकर लिखित में शिकायत देने वाले बयान पर भी उन्होंने प्रतिक्रिया दी। उन्होंने सवाल उठाया कि क्या अबतक तमाम मामलों की जांच मेरी ही लिखित शिकायत पर हुई हैघ् किसी भी धांधली की जांच करवाना सरकार की जि़म्मेदारी होती है। धान घोटाले की जांच ना करवाकर आखि़र सरकार किसको बचाना चाहती है।

You might also like