तीसरी आंख की निगरानी में बोर्ड परीक्षाएं

परीक्षा केंद्रों के पहले ही आईपी एड्रेस हुए जमा, नियमित संग अस्थाई केंद्रों में भी होंगे कैमरा

धर्मशाला – पहाड़ी राज्य हिमाचल प्रदेश में पहली बार बोर्ड की सभी परीक्षाएं पूरी तरह से तीसरी आंख की निगरानी में होगी। प्रदेश भर में स्थापित 2228 नियमित परीक्षा केंद्रों संग आठ अस्थाई केंद्रों में भी सीसीटीवी का पुख्ता बंदोबस्त किया गया है। परीक्षा केंद्रों के पहले ही आईपी एड्रेस बोर्ड ने अपने पास जमा किए हैं, जिसके आधार पर ही केंद्र अलॉट किए गए हैं। ऐसे में पहली बार एक सौ फीसदी परीक्षा तीसरी आंख भी निगरानी में होगी। गौर हो की पूर्व के वर्षाें में कुछेक केंद्रों में सीसीटीवी की सही दशा न होने औरर सर्वर फेल होने व कनेक्टिविटी को लेकर काफी विवाद देखने को मिला था, लेकिन इस बार केंद्रों में सीसीटीवी सही प्रकार से चलने को लेकर पहले ही रिपोर्ट केंद्रों से ले ली गई है। प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड की फाईनल परीक्षाओं की प्रैक्टिकल परीक्षाएं 15 फरवरी शनिवार से शुरू हो जाएंगी। इसके साथ ही चार व पांच मार्च से नियमित दसवीं व जमा दो और राज्य मुक्त विद्यालय एसओएस की आठवीं, दसवीं और जमा दो की परीक्षाएं भी शुरू कर दी जाएंगी। इस बार सरकारी-प्राईवट व अस्थाई परीक्षा केंद्रों में कोई भी परेशानी न हो इसके लिए बोर्ड ने पहले ही प्रयास तेज़ कर दिए हैं। इसी कड़ी में प्रदेश भर में स्थापित होने वाले परीक्षा केंद्रों की सीसीटीवी की आईपी एड्रेस और उनके सही प्रकार से चलने की सभी जानकारी एकत्रित कर ली गई है। ऐसे में अब इस बार परीक्षा केंद्रों में पूरी तरह से तीसरी आंख की नज़र बनी रहेगी। प्रदेश भी में स्थापित 2228 परीक्षा केंद्रों सहित आठ अस्थाई केंद्रों में भी सीसीटीवी का पुख्ता बंदोवस्त है। प्रदेश भर में नियमित व एसओएस के कुल दो लाख 17 हज़ार छात्र परीक्षा देने के लिए शामिल होंगे। इसके लिए बोर्ड ने प्रश्न पत्रों व उत्तरपुस्तिकाओं के आवंटन सहित फ्लाईगं स्कवाईड गठित करने को लेकर भी रणनीति बना भी शुरू कर दिया है। वहीं परीक्षा से संबंधित जानकारी के लिए बोर्ड कार्यालय में कॉल सेंटर भी स्थापित किया जाएगा, जो कि किसी भी प्रकार की  परीक्षा की परेशानी के हल के लिए उपलब्ध करवा दिया गया है।

  

You might also like