परमार ने संभाला विधानसभा अध्यक्ष का कार्यभार

पक्ष-विपक्ष ने बांधे तारीफों के पुल; सीएम बोले, स्वास्थ्य विभाग में रही बेहतरीन परफॉर्मेंस

शिमला – विपिन सिंह परमार ने बुधवार को हिमाचल प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष का पद संभाल लिया। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने उनके नाम का प्रस्ताव किया जिसके बाद महेंद्र सिंह ने समर्थन किया। इसके उपरांत संसदीय कार्यमंत्री ने उनके नाम का दूसरा प्रस्ताव किया, जिसका समर्थन सरवीण चौधरी ने किया। फिर डा. रामलाल मारर्कंडेय ने प्रस्ताव किया और राकेश पठानिया ने उसका समर्थन किया। इसके बाद चौथा प्रस्ताव विक्रम सिंह ने किया, जिसका समर्थन गोबिंद ठाकुर ने किया। सदन के नेता जयराम ठाकुर और विपक्ष के नेता मुकेश अग्निहोत्री दोनों मिलकर विपिन सिंह परमार को विधानसभा अध्यक्ष के आसन तक ले गए और उन्हें वहां बिठाया। उनका चयन सर्वसम्मति से किया गया है।

मुकेश बोले, स्पीकर की कुर्सी पर विट्ठल भाई पटेल भी बैठे

विपक्ष के नेता मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि यह वह आसन है, जिस पर विट्ठल भाई पटेल बैठ चुके हैं। उन्होंने कहा था कि उनका किसी भी दल से कोई ताल्लुक नहीं है, लिहाजा अब वह आगे चुनाव भी नहीं लड़ेंगे। ऐसे व्यक्तित्व, जिन्होंने इस आसन की शोभा बढ़ाई है, उस पर अब विपिन परमार विराजमान हुए हैं। उन्होंने कहा कि कई प्रतिष्ठित लोग इस आसन को सुशोभित कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि इस कुर्सी पर बैठकर परमार कुछ ऐसा बेहतरीन कार्य करें कि उन मंत्रियों को भी लगे, जिन्होंंने अध्यक्ष बनने में दिलचस्पी नहीं दिखाई कि उन्होंने गलत किया। उन्होंने बताया कि विधानसभा अध्यक्ष के लिए बरमा सरकार ने टीकवुड की लकड़ी दी थी और विधानसभा का यह भवन अंग्रेजों का बनाया आखिरी भवन है। उन्होंने विपिन सिंह परमार की तारीफ की और उम्मीद जताई कि वह पक्ष व विपक्ष को बराबर देखेंगे।

हिमकेयर विपिन परमार की देन

सत्तापक्ष व विपक्ष दोनों ने  विपिन सिंह परमार के काम की प्रशंसा की और उनकी तारीफों के पुल बांधे। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य मंत्री रहते हुए विपिन परमार ने बेहतरीन सेवाएं दी हैं। राज्य में हिमकेयर योजना उन्हीं की देन है, जिनके साथ चर्चा के बाद केंद्र सरकार की आयुष्मान भारत योजना को पूरे प्रदेश के लोगों को राहत देने के लिए नई योजना शुरू की गई। सीएम ने कहा कि विधानसभा अध्यक्ष का पद गरिमामयी पद है जिसका अपना इतिहास रहा है। संगठन ने इस महत्त्वपूर्ण औहदे के लिए उन्हें चुना है, जो छात्र जीवन से राजनीति में रहे हैं। उन्होंने कहा कि सबसे बड़े जिला कांगड़ा की राजनीति में उनकी महत्त्वपूर्ण भूमिका रही है, जो और अधिक सुदृढ़ होगी। सीएम ने बताया कि आज हिम केयर योजना में 60 हजार लोगों को एक साल में सरकार ने मुफ्त इलाज दिया है।

चेहरे पर लाली आज भी कायम

सुखविंदर सुक्खू ने कहा कि हमारे जैसा युवा यदि इस पद पर इतनी जल्दी पहुंच जाए, तो समझो की राजनीति का शिकार हुआ है, लेकिन यह कुर्सी इतनी अधिक गरिमामय है कि सभी ऐसा मौका चाहते हैं। उन्होंंने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री रहते टीएमसी में विपिन सिंह परमार ने बेहतरीन काम किया है, जो भविष्य में अच्छा संस्थान बनकर उभरेगा। उनके चेहरे पर छात्र जीवन में जो लाली थी, वह आज भी कायम है।

सरकार पूरा समर्थन करेगी

संसदीय कार्यमंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि सदन को अच्छे से चलाने में सरकार  का पूरा समर्थन मिलेगा। उन्हें उम्मीद है कि परमार के रहते सदन की कार्यवाही बेहतरीन चलेगी और कुछ खास दिखेगा।

सभी पक्षों को न्याय देंगे परमार

राकेश सिंघा ने उम्मीद जताई कि परमार अपने सरल स्वभाव की भांति ही सदन को भी सरलता से चलाएंगे। सभी पक्षों को न्याय देंगे।

You might also like