पेइंग गेस्ट का मालिक गिरफ्तार

अग्निशमन सुरक्षा नियमों का किया गया उल्लंघन; केस दर्ज, जांच शुरू

चंडीगढ़ – सेक्टर-32 के एक घर में आग लगने के मामले में पुलिस ने पीजी (पेइंग गेस्ट) चलाने वाले व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। शनिवार को हुए हादसे में तीन युवतियों की मौत हो गई थी, जोकि इमारत की पहली मंजिल पर पेइंग गेस्ट बनकर रह रही थीं। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि जिस घर में आग लगी थी, उसे मालिक ने अन्य व्यक्ति नीतिश बंसल को किराए पर दिया हुआ था। उन्होंने बताया कि बंसल कथित तौर पर अग्निशमन सुरक्षा नियमों के अलावा अन्य नियमों का उल्लंघन कर घर में पीजी चला रहा था। सेक्टर-34 थाने के एसएचओ बलदेव कुमार ने बताया कि बंसल को शनिवार देर रात गिरफ्तार कर लिया गया। उन्होंने बताया कि बंसल, उसका साथी और घर के मालिक पर विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। कुमार ने कहा कि आगे की जांच जारी है और हम अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार करेंगे। पुलिस उपायुक्त मनदीप सिंह बरार ने आग लगने के मामले में जांच का आदेश देकर जांच रिपोर्ट जल्द सौंपने को कहा है। साथ ही उप मंडल मजिस्ट्रेट (दक्षिण) को भी जांच के लिए निर्देशित किया गया है। अधिकारिक सूत्रों ने बताया कि क्षेत्र में नियमों का उल्लंघन कर और बिना पंजीकरण के चलने वाले पीजी के खिलाफ अभियान चलाया जाएगा। शनिवार को पीजी में आग लगने से पाक्षी (कोटकापुरा, पंजाब), रिया (कपूरथला, पंजाब) और मुस्कान (हिसार, हरियाणा) की जान चली गई थी। सभी की उम्र 19-22 वर्ष के बीच थी। एक युवती जसमीन कौर ने पहली मंजिल से कूदकर अपनी जान बचाई थी। जसमीन, उसके रिश्तेदारों और पीजी में रहने वाली अन्य युवतियों ने पुलिस के समक्ष अपना बयान दर्ज कराया।

मैं सो रही थी और…

मीडिया से बातचीत में जैसमिन ने कहा कि मैं सो रही थी और अपनी जान की परवाह नहीं करते हुए मेरी मित्र पाक्षी ने आकर जगाया और आग लगने की जानकारी दी। शायद शॉर्ट सर्किट होने से आग लगी। उन्होंने बताया कि सप्ताहांत होने के चलते पीजी में रहने वाली अधिकतर युवतियां बाहर थीं, जबकि कुछ कालेज गई हुई थीं। उन्होंने कहा कि फ्लोर पर केवल हम 4-5 लोग थे और बाहर निकलने का केवल एक संकरा रास्ता था जोकि आग की लपटों से घिर गया था।

You might also like