पोल्ट्री उद्योग को बचाने के लिए पीएम से गुहार

चंडीगढ़ – अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की दो दिवसीय भारत यात्रा के दौरान मुर्गी पालन उत्पादों के आयात की ड्यूटी घटाने की आशंकाओं के बीच पोल्ट्री फेडरेशन ऑफ इंडिया ने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पोल्ट्री उद्योग को बचाने के लिए अपील की। फेडरेशन के अध्यक्ष रमेश चंद्र खत्री और सचिव रणपाल सिंह ने प्रधानमंत्री के नाम लिखे पत्र, जो विभिन्न जिला उपायुक्तों के माध्यम से दिया गया, में यह अपील की गई है। जारी पत्र के अनुसार पोल्ट्री उद्योग दस हजार करोड़ रुपये का है और दो करोड़ लोगों का रोजगार इससे जुड़ा हुआ हे। अमरीकी पोल्ट्री उद्योग को बढ़ावा देने के प्रयास में सरकार भारत के पोल्ट्री उद्योग को नष्ट कर देगी। पत्र में लिखा गया है कि अमेरिकी टंगड़ी पर ड्यूटी घटाई गई तो भारतीय पोल्ट्री नष्ट हो जायेगी। पत्र के अनुसार पोल्ट्री के साथ मक्का, बाजरा, तिलहन, सोया बुवाई करने वाले किसानों का भी नुकसान होगा क्योंकि पोल्ट्री इन कृषि उत्पादों का सबसे बड़ा उपभोक्ता है। पत्र में प्रधानमंत्री को किसानों की आय 2022 तक दुगनी करने के वायदे की याद दिलाते हुए कहा गया है कि किसानों का भरोसा न तोड़ें क्योंकि किसान ने उन्हें इसलिए वोट नहीं दिया कि परेशान होकर उसे आत्महत्या का रास्ता अपनाना पड़े।

You might also like