विपक्ष ने नकारा जयराम सरकार का रिपोर्ट कार्ड

मुकेश अग्निहोत्री का वार; राज्यपाल ने पढ़ा भाजपा का एजेंडा, योजनाओं की कहीं कोई झलक नहीं

शिमला – विधानसभा में राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय द्वारा पढ़े गए जयराम सरकार के रिपोर्ट कार्ड को विपक्ष ने पूरी तरह नकार दिया। विपक्ष के नेता मुकेश अग्निहोत्री ने आरोप लगाया कि यह दस्तावेज पूरी तरह भाजपा के एजेंडे से भरा हुआ है। इसमें कल्याणकारी योजनाओं की झलक तो नहीं दिखी, लेकिन भाजपा का राजनीतिक एजेंडा जरूर दिखा है। राज्यपाल ने जिस तरह केंद्र सरकार के एजेंडे की बात कही और जम्मू-कश्मीर व राम मंदिर का मुद्दे बताया, उससे भाजपा का एजेंडा ही दिखाई दे रहा है। पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि सरकार ने जो अभिभाषण तैयार कर राज्यपाल को दिया था, वह पूरी तरह निरस था। खुद राज्यपाल को भी इसे पढ़कर मजा नहीं आया होगा। उन्होंने कहा कि राज्यपाल का कहना था कि सभी चुनावी वादे पूरे कर दिए हैं, लेकिन गिनाने को उनके पास कुछ नहीं था। कई ऐसी योजनाएं, जो कि पूर्व सरकार के समय में शुरू हुई थी, उन्हीं को अभिभाषण में भी दिखाया गया है। आदर्श विद्यालयों की स्थापना को बजट में कहा गया था, लेकिन अभी तक केवल प्रस्ताव ही मांगे जा रहे हैं। इसी तरह जल जीवन मिशन के दावे हो रहे हैं, जो कि खोखले हैं। बेरोजगारी भत्ता योजना पूरी तरह दम तोड़ चुकी है। मंडी में हवाई अड्डे का केवल समझौता हुआ है। मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि इन्वेस्टर्स मीट में क्या कुछ हुआ और उसके बाद क्या हो रहा है, वहीं जनमंच क्या है, इसके बारे में विपक्ष सदन में बताएगा। उन्होंने आरोप लगाया कि जनता से वादे तो बड़े-बड़े किए गए, लेकिन वास्तव में कुछ नहीं है। कागजों में लिखने से योजनाएं धरातल पर नहीं उतरतीं।

दूसरे मंत्रियों को सौंपने पड़ रहे दायित्व

मंत्रिमंडल से तीन मंत्री हट चुके हैं, सरकार को अपने मंत्रियों को दूसरे दायित्व देने पड़ रहे हैं, जिससे साफ है कि भाजपा का राजनीतिक एजेंडा  सरकार पर हावी हो चुका है। ऐसे में विकास की बात करना बेईमानी साबित हो रहा है।

सरकार को देंगे हर मुद्दे पर जवाब

विपक्ष के नेता ने कहा कि सदन के भीतर हर मुद्दे पर सरकार को माकूल जवाब दिया जाएगा। प्रदेश की जनता को सरकार के विकास के दावों की असलियत बताएंगे।

You might also like