शिवलिंग तोड़ा, झाडि़यों में फेंके नंदी बैल

धर्मशाला के सिद्धपुर में शरारती तत्त्वों का कारनामा, छानबीन शुरू

धर्मशाला – धर्मशाला नगर निगम के वार्ड-17 सिद्धपुर में शरारती तत्त्वों ने शिवलिंग ही तोड़ डाला और नंदी बैल को भी उखाड़कर गायब कर दिया है। सदर थाना धर्मशाला ने मौके पर पहुंचकर मामले की जांच शुरू कर दी है। मामला शिक्षा बोर्ड कालोनी के साथ बने शिव मंदिर का है, रात के अंधेरे में अज्ञात बदमाशों ने मंदिर में बने शिवलिंग के साथ तोड़फोड़ की और भगवान शिव की मूर्ति और शिवलिंग को उठाकर झाडि़यों में फेंक दिया। नंदी बैल की मूर्ति का कोई पता नहीं चल पाया है। वार्ड पार्षद व ग्राम सुधार सभा सिद्धपुर ने धर्मशाला थाना में इस बाबत सूचना दे दी है। इस मंदिर की स्थापना करीब तीन-चार साल पहले हुई है और 22 फरवरी को भंडारे का आयोजन किया गया था। पार्षद विशाल जम्वाल ने बताया कि पुलिस की मदद से मामले की छानबीन करवाई जाएगी। धर्मशाला थाना के प्रभारी राजेश कुमार ने बताया कि केस दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। बता दें कि पिछले दिनों जिला चंबा में भी ऐसी ही घटना सामने आई थी, इस तरह की वारदात से प्रदेश के लोगों में काफी आक्रोश है। हिमाचल के अधिकतर लोग शिव की अराधना करते हैं, ऐसे में मंदिरों में इस तरह की घटनाएं होने से लोग निराश हैं। अभी भरमौर में लाहला स्थित शिव प्रतिमा को दो बार तोड़ दिया गया था।

भरमौर में भोलेनाथ की मूर्ति खंडित करने वाला भी गिरफ्तार

भरमौर – उपमंडल के लाहल गांव के पास प्रथम कैलाश दर्शन स्थल पर स्थापित भगवान भोले नाथ की मूर्ति तोड़ने के आरोप में पुलिस ने एक शख्स को दबोचा है। आरोपी को हिरासत में लेने के बाद कड़ी पूछताछ की जा रही है। लिहाजा आरोपी ने पूछताछ के दौरान मूर्ति को खंडित करने की बात कबूल ली है। बहरहाल मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए पुलिस गहनता के साथ मामले की छानबीन में जुटी हुई है।

You might also like