शिवालयों में भोले को मनाने पहुंचे भक्त

शिमला – राजधानी समेत पूरे प्रदेश में महाशिवरात्रि पर्व की धूम है। अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव मंडी में मनाया जा रहा है। जगह जगह भोले को मनाने के लिए राम मंदिर में शुक्रवार को महाशिवरात्रि महोत्सव मनाया जाएगा। इस पर्व के लिए शहर के सभी शिव मंदिरों में गुरुवार को भी काफी संख्या में श्रद्धालु पहुंचे और शिव भगवान की अराधना की गई। राजधानी में इस साल के शिवरात्रि पर्व के लिए भक्तों में काफी उत्साह देखा जा रहा है। शहर के मंदिरों के बाहर व मंदिरों में भी इन दिनों श्रद्धालु भोले बाबा के दर्शनों के लिए पहुंच रहे हैं। गुरुवार के दिन भी शिमला के राम मंदिर व लिफ्ट के शिव मंदिरों में श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। शिमला के राम मंदिर में सूद सभा द्वारा शिवरात्रि पूजन की तैयारियां जोरों-शोरों से चल रहीं हैं। इस बार की शिवरात्रि पूजन के लिए सूद सभा द्वारा राम मंदिर में शिवरात्रि महोत्सव के उपलक्ष्य पर शिव विवाह का भव्य आयोजन 22 फरवरी तक किया जाएगा। इसी कड़ी में शिवरात्रि पर्व के लिए बुधवार को हल्दी व शगुन की मेहदी एवं भजन संध्या  की गई। इसी के साथ गुरुवार को चूड़ा, घरौली, तेल, बूटना  दोपहर 2 बजे से भजन संध्या कार्यक्रम किया गया। इस दौरान काफी संख्या में श्रद्धालु मंदिर में पहुंचे व भोले बाबा से अपने व अपने परिवार के लिए शुभकामनाएं मांगीं। इस पर्व के लिए आज राम मंदिर में विशेष पूजा की जाएगी, जिसके तहत आज शिव भगवान की बारात निकाली जाएगी। इसके बाद बारात स्वागत व कन्या दान व फेरे, विदाई समारोह प्रातः10 बजे (शनिवार) की जाएगी। वहीं इस अवसर पर भक्तों द्वारा भोले बाबा को प्रसन्न करने के लिए आज व्रत भी किया जाएगा। साथ ही जगह-जगह भगवान शिव के भक्तों द्वारा भोले बाबा का प्रिय भांग से बना घोटा बांटा जाएगा। साथ ही भक्तों को खीर व फल प्रसाद के रूप में बांटे जाएंगे।           

शिव का प्रिय फल बेर हुआ महंगा

शिवरात्रि के  अवसर पर शिमला के बाजारोें में फलों की खरीददारी बढ़ गई है, जिनमें सबसे महंगा फल बेर ही है। इसके  पीछे मान्यता है कि शिवरात्रि के दिन भगवान शिव को बेर अर्पित करने से वह अति प्रसन्न होते हैं एवं अपने भक्तों की सारी मनोकामनाएं पूरी करते हैं। चूंकि भगवान शिव सभी देवों में इकलौते ऐसे देवता हैं जो थोड़ी सी भक्ति से भी प्रसन्न हो जाते हैं।

You might also like