सत्यम् शिवम् सुंदरम्

-राजेश कुमार चौहान     

सत्य ही शिव है, शिव ही सुंदर है। इसलिए शिव को प्रसन्न करने के लिए सत्य की राह पर भी चलना जरूरी है। भगवान शिव भी प्रकृति की अमूल्य देन बिल्वपत्र और पानी से प्रसन्न हो जाते हैं। इसलिए इस महाशिवरात्रि में हर किसी को प्रकृति से जुड़ने की भी कोशिश करनी चाहिए। भगवान शंकर ने रावण को उसकी भक्ति से खुश होकर उसे कई अद्भुत शक्तियां और सोने की लंका तक दे दी थी, लेकिन अहंकार वश होकर उसने उनका प्रयोग अनुचित कामों के लिए करना आरंभ कर दिया। इसलिए हमें इनसानियत की राह पर चलने का प्रण लेना चाहिए और प्रकृति को संभालने के भी प्रयास करने चाहिए।

You might also like