सबसे कम उम्र में फतह की साउथ अमरीका की सबसे ऊंची चोटी

हौसले जब बुलंद हों तो उम्र भी आड़े नहीं आती है। ऐसा ही कुछ कर दिखाया है मुंबई के नेवी चिल्ड्रन स्कूल की एक स्टूडेंट  काम्या कार्तिकेयन ने। सातवीं क्लास की काम्या कार्तिकेयन साउथ अमरीका की सबसे ऊंची चोटी माउंट एकंकॉन्गुआ फतह करने वाली दुनिया की सबसे कम उम्र की लड़की बन गई हैं। यह चोटी एशिया के बाहर सबसे ऊंची चोटी है। 6962 मीटर की ऊंचाई वाली माउंट एकंकॉन्गुआ चोटी 11 साल की काम्या ने पहली फरवरी, 2020 को फतह की और भारत का तिरंगा लहराया। चढ़ाई के लिए कठिन परिस्थितियों के बीच भी उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और यह करिश्मा कर दिखाया। इसके लिए काम्या ने कई साल तक शारीरिक और मानसिक तैयारी की। वह लगातार एडवेंचर स्पोर्ट्स में हिस्सा लेती रहीं। एक शक्तिशाली व्यक्तित्व की मदद से इतनी कम उम्र में काम्या ने यह सफलता अपने नाम की। उन्होंने कई प्रशासनिक रुकावटों को भी पार किया। काम्या ने यह कारनामा कर अपने नाम वर्ल्ड रिकार्ड दर्ज कराया है। मुंबई की काम्या कार्तिकेयन नेवी चिल्ड्रेन स्कूल में 7वीं कक्षा में पढ़ती हैं। इस पर्वत पर चढ़ाई करने वाली सबसे कम उम्र की बालिका है। इससे पहले अगस्त, 2019 में उन्होंने माउंट मेंतोक कांगरी पर चढ़ाई की थी। काम्या कार्तिकेयन  ने 9 वर्ष की आयु में हिमालयी क्षेत्रों  में ऊंचाई वाले इलाकों में ट्रैकिंग की। उन्होंने 2021 तक  “Explorers Grand Slam” को पूरा करने का लक्ष्य रखा है।

You might also like