हिमाचली खेतीबाड़ी में क्रांति लाएंगे एफपीओ

पीएम 29 को शुरू करेंगे योजना; किसानों को मिलेगी मदद, फसल का पूरा मूल्य

नई दिल्ली – कृषि व कल्याण मंत्रालय प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना की पहली वर्षगांठ समारोह 29 फरवरी को चित्रकूट में आयोजित करने जा रहा है। इस दौरान पीएम मोदी 10 हजार नए किसान उत्पादक संगठन (एफपीओ) के गठन की योजना की शुरुआत करेंगे। एफपीओ की शुरुआत से हिमाचल समेत सभी राज्यों के किसानों को ज्यादा फायदा होगा और किसान सरकार की योजनाओं तक आसानी से पहुंच सकेंगे। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बताया कि सरकार ने 10 हजार नए एफपीओ बनाने का निर्णय लिया है, जिससे खेती के क्षेत्र में क्रांतिकारी परिवर्तन आएगा। हरेक एफपीओ को 15 लाख रुपए तक की सहायता दी जाएगी। नाबार्ड और एनसीडीसी दोनों को मिलाकर 1500 करोड़ रुपए फंड बनाया गया है। वहीं, एफपीओ के गठन में सदस्यता को लेकर पहाड़ी राज्य होने के नाते हिमाचल को कुछ रियायतें भी होंगी। एक रिपोर्ट के अनुसार हिमाचल प्रदेश के नौ जिलों में कुल 53 एफपीओ है, जिसमें 10107 शेयर होल्डर हैं। अब प्रदेश में और एफपीओ खोलने की तैयारी है, जिससे प्रदेश के किसान की आमदनी में बढ़ोतरी होगी।

उत्पादक संगठनों से ऐसे होगा फायदा

पहले किसान समूह में खेती करता था, तो उसको फायदा मिलता था, मगर आज ज्यादातर किसान छोटी जोत का है और अकेला है, ऐसे में किसान उत्पादक संगठन (एफपीओ) के जरिए किसानों को फिर से समूह में अपनी ऊपज बेचने का मौका मिलता है। छोटे किसान और पशुपालक मंडी में दूध बेचने की बजाए एफपीओ को दे रहे हैं, वो उसका प्रोसेस करते हैं और अच्छी कीमत भी मिलती है।

पीएम किसान स्कीम ऐप लांच

पीएम किसान स्कीम के एक साल पूरे होने के उपलक्ष में केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने सोमवार को योजना की उपलब्धियां बताईं। इस अवसर पर स्कीम से संबंधित मोबाइल ऐप भी श्री तोमर ने लांच किया। इससे किसानों की इस स्कीम तक पहुंच सुगम हो सकेगी। इस दौरान श्री तोमर ने कहा कि अब तक इस योजना के अंतर्गत देश के साढ़े आठ करोड़ किसानों को कवर किया गया है।

You might also like