अब घर बैठे मिलेगा पैसा

लॉकडाउन में नहीं जाना पड़ेगा एटीएम तक, मामूली फीस में मिलेगी सुविधा

नई दिल्ली – कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप पर लगाम लगाने के लिए देशभर में अगले 21 दिनों के लॉकडाउन से लोगों की परेशानियां बढ़ गई हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार रात अगले 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की है। हालांकि, इस दौरान जरूरी वस्तुओं की आपूर्ति जारी रहेगी। चूंकि लॉकडाउन में घर से बाहर निकलने पर रोक होती है, इसलिए घर में कैश की किल्लत हो सकती है। वैसे एटीएम से कैश निकालने के लिए भी लॉकडाउन से छूट मिलती है, लेकिन अगर एटीएम आपके घर से दूर हो तो मुश्किल बढ़ सकती है। ऐसे में बैंक खुद आपको आपके घर पैसे देने आएगा। लॉकडाउन के दौरान बैंक जरूरी सेवाओं को जारी रखेंगे। एसबीआई, एचडीएफसी बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक तथा एक्सिस बैंक अपने ग्राहकों को घर पर कैश डिलीवरी की सुविधा प्रदान करते हैं। देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक एसबीआई आपके घर तक नकदी पहुंचाने की सुविधा प्रदान करता है। यही नहीं, आपके घर पर ही बैंक आपके पैसे जमा लेने की भी सुविधा प्रदान करता है। मेडिकल एमर्जेंसी के दौरान एसबीआई का ग्राहक 100 रुपए का शुल्क चुकाकर बैंक की इस अनोखी सुविधा का फायदा उठा सकता है।

एचडीएफसी-एक्सिस बैंक में भी यह सुविधा

एचडीएफसी बैंक भी अपने खातधारक को घर पर नकदी पहुंचाने की सुविधा प्रदान करता है। कैश लिमिट 5,000-25,000 रुपए है और इसके लिए बैंक 100-200 रुपए का शुल्क लेता है। वहीं एक्सिस बैंक तथा कोटक महिंद्रा बैंक भी यह सुविधा प्रदान करता है।

हाईड्रोक्सिल क्लोरोक्वीन दवा के निर्यात पर बैन

नई दिल्ली – सरकार ने कोरोना वायरस से निपटने में सहायक आधार दवा हाइड्रोक्सिल क्लोरोक्वीन तथा इससे निर्मित अन्य दवाओं के निर्यात पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया है। केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने बुधवार को यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि यह प्रतिबंध 24 मार्च और 25 मार्च की मध्यरात्रि से प्रभावी हो गया है। मंत्रालय के अनुसार यह प्रतिबंध तय तिथि से पहले लिए आर्डर, प्रक्रियागत आर्डर और विशेष आर्थिक क्षेत्र के आर्डर पर लागू नहीं होगा। हालांकि इनको पूरा करने के लिए सरकार से अनुमति लेनी होगी। सरकार से सरकार के आर्डर पर भी यह प्रतिबंध प्रभावी नहीं होगा।

You might also like