सीएम बोले, आईआईटी मंडी हमारा गर्व

By: Feb 25th, 2021 12:22 am

दिव्य हिमाचल ब्यूरो-मंडी
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि आईआईटी मंडी कमांद हमारे लिए गर्व का विषय है। आईआईटी की स्थापना से हिमाचल प्रदेश को विश्वभर एक विशेष पहचान मिली है। यहां आईआईटी की स्थापना की समय जरूर प्रबंधन, फेकेलिटी व विद्यार्थियों को भी समस्याओं का सामना करना पड़ा था, लेकिन अब आईआईटी मंडी 12 वर्षों की लंबी यात्रा कर एक विकसित मोड़ पर पहुंच चुकी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने आईआईटी मंडी की हर समस्या को अपना माना है और हर संभव व सहयोग दिया है। भविष्य में भी प्रदेश सरकार का सहयोग इसी तरह से आईआईटी मंडी को मिलता रहेगा।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर बुधवार को आईआईटी के 12वें स्थापना दिवस समारोह के अवसर पर आईआईटी कमांद में लोगों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आईआईटी मंडी को बेहतर सड़क सुविधा से जोडऩे के साथ ही एयक कनेक्टीविटी पर भी सरकार काम कर रही है। उन्होंने कहा कि आईआईटी मंडी के कर्मचारियों और विद्यार्थियों की सुविधा के लिए मंडी कमांद बजौरा सड़क का सुधारीकरण और स्तरोन्यन किया जाएगा। टीहरी तक सीआरएफ के तहत यह काम हो भी चुका है, लेकिन इससे आगे सड़क को बेहतर बनाने के लिए 14 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। उन्होंने ऊहल पुल के निर्माण कार्य में तेजी लाई जाएगी और निर्धारित समय अवधि के भीतर पूरा किया जाएगा। मंडी जिले में प्रस्तावित हरित क्षेत्र हवाई अड्डा से क्षेत्र को बेहतर हवाई संपर्क सुविधा उपलब्ध होने के अलावा क्षेत्र की पर्यटन क्षेत्र को भी प्रोत्साहन मिलेगा। जयराम ठाकुर ने कहा कि कोविड.19 महामारी के कारण उत्पन्न चुनौतियों के बावजूद इस संस्थान ने डिजिटल और हाईब्रीड माध्यमों से अपने शैक्षणिक और अनुसंधान कार्यक्रमों को निरंतर जारी रखा है। प्रदेश में इस स्थिति से निपटने में आईआईटी ने महत्वपूर्ण योगदान दिया है। इस अवसर पर सांसद राम स्वरूप शर्मा, विधायक जवाहर ठाकुर, आईआईटी के निदेशक प्रो.अजीत के चतुर्वेदी, डीन वित्त डा. विशाल सिंह चौहान, जिला परिषद अध्यक्ष मंडी पाल वर्मा, मिल्कफेड के अध्यक्ष निहाल चंद शर्मा, जिला मंडी भाजपा अध्यक्ष रणवीर सिंह, रजिस्ट्रार कमल कुमार, उपायुक्त ऋ ग्वेद ठाकुर, डीआईजी मधुसूदन शर्मा और एसपी मंडी शालिनी अग्निहोत्री इस अवसर पर अन्य लोगों के साथ उपस्थित रहे।